Home » Desi Nuskhe » इबोला से बचना है तो अपनाएं यह 5 सावधानियां | ibola se bachna hai to apnaaye yeh 5 saavdhaniya
dharmik
dharmik

इबोला से बचना है तो अपनाएं यह 5 सावधानियां | ibola se bachna hai to apnaaye yeh 5 saavdhaniya




इबोला से बचना है तो अपनाएं यह 5 सावधानियां  |  ibola se bachna hai to apnaaye yeh 5 saavdhaniya

5 सरल तरीके इबोला से बचाव के

इन दिनों पूरी दुनिया (whole world) में एक ही बीमारी का बोलबाला है और वह है इबोला। इबोला एक प्रकार का वायरस (virus) है। यह दुनिया भर के सबसे घातक वायरसों (dangerous viruses) में से एक है। इससे सामान्य फ्लू के वायरस की तरह निपटा नहीं जा सकता।

जानिए इबोला के लक्षण –

अचानक बुखार आना, कमजोरी (weakness), मांसपेशियों में दर्द, गले में खराश और थकान (laziness)। जितनी जल्दी संभव हो सके डॉक्टरों को सूचित (inform the doctor) करें। इबोला से संक्रमित मरीज के कपड़ों और इस्तेमाल होने वाले कपड़ों को भी जला (burn the clothes) देना चाहिए।

डॉक्टर्स और देश भर के विशेषज्ञों ने 5 प्रकार की सावधानियां बरतने का आग्रह किया है। 5 सरलतम सावधानियां अपनाकर इबोला नामक खतरनाक वायरस के संक्रमण से बचा जा सकता है-

1. हाथों को रखें स्वच्छ

अपने हाथों को हमेशा साबुन (soap) और पानी (water) से साफ रखें। हाथों को सुखाने के लिए स्वच्छ तौलिए का इस्तेमाल करें। वायरस को मारने का यह सबसे प्रभावी तरीका है। हाथ धोने के लिए अच्छी कंपनी का हैंडवॉश (handwash) इस्तेमाल करें।

2. हाथ ना मिलाएं

हाथ मिलाने (avoid handshake) से यथासंभव बचें क्योंकि यह वायरस शरीर के सीधे संपर्क से तेजी से फैलता है।

3. स्पर्श से बचें

अगर आपको किसी व्यक्ति पर इबोला से संक्रमित (doubt to be infected) होने का संदेह है तो उन्हें स्पर्श न करें। यह वायरस पेशाब, मल, रक्त, उल्टी, पसीना, आंसू, शुक्राणु और योनि से होने वाले स्राव के संपर्क से फैलता है। अगर आपको लगता है कि किसी व्यक्ति की मौत इबोला वायरस (death cause is ibola) की वजह से हुई है, तो उसके शरीर को छूने से बचें। किसी बीमार व्यक्ति की तुलना में मृत व्यक्ति (dead person) से वायरस के संक्रमण का खतरा अधिक होता है।

4. नॉनवेज से बचें

बंदर, चिंपैंजी, चमगादड़ का मांस नहीं खाएं (Avoid non-veg.) क्योंकि विशेषज्ञों (researcher says) का मानना है कि मनुष्यों में इसका संक्रमण इन्हीं जानवरों के संपर्क में आने से हुआ। शिकार करने और जानवरों को छूने से बचें। यह सावधानी जरूर रखें कि मांस को ठीक से पकाया गया है।

5. डॉक्टर के पास जाने में हिचके नहीं

डॉक्टर से डरें नहीं (don’t afraid of doctor) , वे आपकी मदद करने के लिए हैं। अस्पताल किसी भी मरीज के लिए सबसे सही जगह है। यहां मरीज को पानी की कमी से बचाया जा सकता है और दर्द निवारक दवा (pain killer medicine) भी दी जा सकती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*