Home » Ayurved » ईसबगोल – Health benefits of ayurvedic product isabgol
dharmik
dharmik

ईसबगोल – Health benefits of ayurvedic product isabgol




ईसबगोल – Health benefits of ayurvedic product isabgol

ईसबगोल की भूसी में थोड़ा-सा लुवाब होता है| यह पेट के सभी रोगों (stomach infection) में काम आती है| इसका लुवाब अंतड़ियों में पहुंचकर उनकी क्रिया को तीव्र कर देता है| इसके फलस्वरूप आंतों में जमा पुराना मल सरलता से शौच के समय बाहर निकल जाता है| इसमें लेस होता है जो आंव (पेचिश) तथा मरोड़ को धो डालता है| ईसबगोल बलवर्द्धक, पौष्टिक तथा नपुंसकता को दूर करता है| इसके नियमित सेवन से व्यक्ति में पौरुष शक्ति (mens power/strength) बनी रहती है| आइए, देखें कि ईसबगोल की भूसी हमारे लिए कितनी उपयोगी है –

आंव (पेचिश)
एक चम्मच ईसबगोल की भूसी को आधा किलो मीठे दूध (sweet milk) में भिगो दें| थोड़ी देर बाद जब वह फूल जाए तो रात को सोने से पूर्व उसका सेवन करें| सुबह के समय इसे दही (curd) और सेंधा नमक के साथ खाएं| चार-पांच दिनों तक नियमित रूप से इसका सेवन करने पर आंव साफ हो जाएगी|

संग्रहणी
दो चम्मच ईसबगोल की भूसी, दो हर्र और थोड़ा-सा बेल का सूखा गूदा-तीनों चीजों को पीसकर दो खुराक कर लें| फिर सुबह-शाम (morning-evening) इसे दूध से खाएं| इसके प्रयोग से संग्रहणी रोग चला जाता है|

बवासीर
रात को दूध में भिगोकर कुछ दिनों तक ईसबगोल की भूसी का प्रयोग करें| बवासीर (piles) से शर्तिया छुटकारा मिल जाएगा|

पेशाब में जलन
तीन चम्मच ईसबगोल की भूसी को एक गिलास पानी में भिगो दें| उसमें एक चम्मच कच्ची खांड़ मिला लें| इसे दिन में दो बार सेवन करने से पेशाब की जलन दूर हो जाती है|

दमा
प्रतिदिन दो बार दो-दो चम्मच ईसबगोल की भूसी को पानी में भिगोकर सेवन करें| 40 दिनों तक उपयोग करने पर दमा का रोग चला जाएगा|

दस्त
एक चम्मच ईसबगोल की भूसी की फंकी लगाकर ऊपर से पानी पी लें| यह दस्तों को रोकने के लिए बहुत ही कारगर चीज है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*