Home » Gyan » कई काम एक साथ करते हैं तो ये बातें ध्यान रखें – kai kaam ek saath karte hai to yeh baatein dhyaan rakhein
dharmik
dharmik

कई काम एक साथ करते हैं तो ये बातें ध्यान रखें – kai kaam ek saath karte hai to yeh baatein dhyaan rakhein




कई काम एक साथ करते हैं तो ये बातें ध्यान रखें – kai kaam ek saath karte hai to yeh baatein dhyaan rakhein

ज्यादातर लोग एक वक्त पर कई काम करते हैं। इससे जिंदगी की गति तेज़ लगती है, लेकिन दिमाग (brain) इन चीज़ों को जल्दी प्रोसेस नहीं कर पाता है। कुछ लोग ऐसे हैं जो काम को निजी जीवन से अलग नहीं कर पाते हैं। इससे दिमाग हमेशा काम में ही उलझा रहता है। इसका एक ही हल है।

बिज़ी वर्क लाइफ के प्रेशर (pressure of busy life) और डिमांड को मैनेज करने से सकारात्मक नतीजे (positive results) मिलेंगे। ऐसा करना आसान नहीं है, लेकिन इन टिप्स को फॉलो (follow) करने से फायदा होगा…

1. यह सिर्फ एक जॉब है, जिंदगी नहीं
जॉब में सबसे अच्छा परफॉर्म (perform) करके आगे बढ़ने की सोच अच्छी है, लेकिन जॉब को जरूरत से ज्यादा अहमियत देना गलत है। ऐसा करने से आगे बढ़ जाएंगे, लेकिन स्वास्थ्य को नुकसान (health loss) होगा।

2. रुटीन बनाना जरूरी
सुबह उठते ही स्मार्टफोन (smart phone) उठाकर ईमेल चैक करने की जरूरत नहीं है। घर और काम को अलग करने के लिए एक रुटीन (routine) बनाएं। घर पर हैं तो ऐसे काम करिए जो इंटरेस्ट के हैं। जैसे अखबार पढ़ना, गार्डनिंग (gardening) करना या कोई स्पोर्ट (sports) खेलना आदि। ऑफिस में भी पूरा दिन ईमेल (e-mail) चैक करने की जरूरत नहीं है। एक वक्त निर्धारित करिए जब आप ईमेल्स चैक करेंगे।

3. दोस्त बनाइए
ऑफिस में कुछ दोस्त (friends) हैं तो अच्छा है। उनके साथ गॉसिप सेशन (gossip session) बनाएं। ऐसा काम के दौरान न करें, लेकिन काम पूरा होने के बाद। सेशन में अपनी समस्याओं (problems) की चर्चा करिए। इसी तरह से ऑफिस के लोगों के साथ बाहर जाने से भी तनाव कम (low stress) होगा।

4. मजबूत वर्किंग रिलेशन
बॉस के साथ अच्छा वर्किंग रिलेशन (good working relation) जरूरी है। कई बार बॉस के साथ कम्युनिकेशन गैप (communication gap) होने के कारण तनाव बढ़ने लगता है। कई बॉस अच्छे होते हैं, लेकिन एक बुरे बॉस के साथ काम करना गलत साबित होगा। जबकि अच्छे बॉस के साथ कोई बोरिंग जॉब (boring job) भी इंटरेस्टिंग लगेगी।

5. इंस्पिरेशनल कोट से मदद
वर्क स्ट्रैस को कम करने के लिए कंप्यूटर स्क्रीन (computer screen) पर या सामने कहीं भी कोई इंटरेस्टिंग-इंस्पिरेशनल कोट लगाएं, जिसे पढ़कर अच्छा महसूस हो और ताकत (strength) भी मिले।

6. खेल खेलने से फायदा
हफ्ते में कम से कम 5 दिन कोई स्पोर्ट खेलिए या 30 मिनट कार्डियोवेस्कुलर एक्सरसाइज़ (exercise) करिए। क्योंकि एक्सरसाइज़ से बेहतर कोई तरीका नहीं है स्ट्रैस कम करने के लिए। इसके अलावा अच्छा खाइए, ईर्ष्या (ego) की भावना न आने दीजिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*