Home » Gyan » इन 7 नुस्खों से आप कर सकते है अपने काम काज के तनाव को दूर | in 7 nuskho se kar sakte hai aap apne kaam kaaj ke tanaav ko door
dharmik
dharmik

इन 7 नुस्खों से आप कर सकते है अपने काम काज के तनाव को दूर | in 7 nuskho se kar sakte hai aap apne kaam kaaj ke tanaav ko door




इन 7 नुस्खों से आप कर सकते है अपने काम काज के तनाव को दूर | in 7 nuskho se kar sakte hai aap apne kaam kaaj ke tanaav ko door

क्या आप खुद को उपेक्षित महसूस (feel) कर रहे हैं? या फिर व्याकुल महसूस कर रहे हैं? या फिर नाखुश (unhappy) रहते हैं? दरअसल कामकाजी दिनों में आजकल ज्यादातर लोग ऐसा ही महसूस करते हैं और ऐसे ही जीने लगे है। हम नॉर्मल (normal) होना बिल्कुल ही भूल चुके हैं।

इन दिनों जिस रफ्तार से कारोबार (business) की दुनिया बढ़ रही है, इसके बाद भी आप जीवन को नियंत्रित (control) कर सकते हैं और खुद की परेशानी को भी कुछ कम कर सकते हैं। आप अपने कामकाजी जीवन और निजी जिंदगी को कहीं ज्यादा खुशनुमा बना सकते हैं, जानिये किस तरह से।

हम अपनी हर मुश्किलों का हल कहीं बाहर ढूंढ़ते हैं, सॉफ्टवेयर (software), मोबाइल ऐप (mobile app.) में और टाइम मैनेजमेंट सिस्टम (time management system) इत्यादि में। लेकिन नीचे लिखे कुछ तरीकों से आप इससे आसानी से बच सकते है।

1. वर्तमान कि चुनौतियों को समझें और उससे पार पाएं:- जो लोग जल्दबाजी (hurry) में होते हैं, वे कभी भी अपने भविष्य (future) को नहीं देख पाते हैं। पहले जानें कि कोई काम कितना जरुरी है और कितना नहीं  अपने रोजमर्रा की आदतों को चुनौती दें। सोचें क्या आपको इस मुलाकात की जरूरत है?

क्या आपको वाकई वो रिपोर्ट (report) तैयार करने की जरूरत है? क्या उस ईमेल (e-mail) का जवाब देना आपके लिए जरूरी है के नहीं? ज्यादातर मामलों में इसकी कोई जरूरत नहीं होती। लेकिन आप ऐसा इसलिए करते हैं क्योंकि आप अब तक उसे पहले भी करते आए हैं। ऐसे कामों को अब कम कर दे। जब आप यह करेंगे तो तो आपके पास दूसरी चीजों को प्रभावी तरीके से करने के लिए ज्यादा वक्त मिलेगा

2. सबसे पहले जरूरी काम को ही प्राथमिकता दें:- आपकी इस महीने की प्राथमिकता क्या है? इस सप्ताह (week) की प्राथमिकता क्या है? आज की प्राथमिकता क्या है? आप ऐसे अपनी चीजों को तय करें और उसके बाद उन्हें पूरा करें। आप कम महत्वपूर्ण काम (important work) को क्यों करना चाहेंगे जब ज्यादा महत्वपूर्ण काम आपके सामने पड़ा है।

3. खुद की अवचेतन सोच को समय दें:- जब आप मुश्किल चुनौतियों (difficult challenges) में फंसे हों तो सही फैसले लेने के लिए अपने अवचेतन को वक्त देना जरूरी है। शोध (research) बताते हैं कि जब लोग सोचते हैं, अपने आंकड़ो को चेक करते हैं तब बहुत अच्छे फैसले लेते हैं। इसलिए थोड़ा समय टहलें और ख़ुद को ठंडा करे। घर का कोई छोटा मोटा काम करें। एक्सरसाइज करें, योग करे। मतलब कुछ ऐसा करें जब आपका शरीर तो सक्रिय हो लेकिन दिमाग ऑटो पायलट (auto pilot) तरीके से काम करें। ऐसे में आप अपनी समस्याओं (problems) के खुद के हल से आप ख़ुद ही अचरज में पड़ जाएंगे।

4. सीमा तय करें:- कोई भी इनसान सातों दिन, चौबीसों घंटे काम नहीं कर सकता और करना भी नहीं चाहिए। लेकिन आपको ऐसा महसूस होता होगा क्योंकि आप ऐसा महसूस करते हैं। अपने लिए कुछ सीमा निर्धारित करें। जिस समय आप काम करना बंद करें उस वक्त अपने परिवार (family) के साथ कुछ वक्त बिताएं। आप कुछ समय तक आप फोन या कंप्यूटर को छूयें भी नहीं। लोगों को आपकी सीमाओं के बारे में मालूम होना चाहिए। अगर आप अपने वक्त की कद्र खुद नहीं करेंगे तो दूसरे से कैसे उम्मीद रख सकते है

5. अपने शरीर का ख्याल रखें:- अपने खाने-पीने को लेकर सजग रहें। अपने शरीर की जरूरतों (needs of body) को पहचानना सीखें। ऐसा खाना खाइए, जो आपको शारीरिक (physically), मानसिक (mentally) और भावनात्मक (emotionally) रूप से बेहतर बनाए।

6. सार्थक संबंध विकसित करें:- आप लोगों से तीन तरह के संबंध विकसित (creating relation) कर सकते है। एक तो अपने से अधिक उम्र के और बुद्धिमान व्यक्ति से, इसके बाद अपने हम उम्र लोगों से संबंध बनाए। इसके अलावा अपने से कम उम्र का एक मेंटॉर (mentor) भी बनाएं ताकि आपको नए दौर के बारे में पता चलता रहे। इससे आपके इर्द-गिर्द काफी बेहतर सपोर्ट सिस्टम (support system) तैयार हो पाएगा जिस से आप ख़ुद में अपने वाले वक्त में काफी बदलाव देखेंगे

7. कृतज्ञता का भाव रखें:- कृतज्ञ भाव आपके जीवन में साकारात्मक प्रभाव (positive impression) डालता है और उन लोगों पर भी असर डालता है जिनके आसपास आप हैं। कृतज्ञता से आप आने वाली हर चुनौती का सामना कर सकते हैं। इससे आपके तनाव का स्तर (stress level) भी घटता और स्वास्थ्य (health) भी बेहतर होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*