Home » Business/Vyapaar » जानिये और अपनाइए वास्तु शास्त्र के इन 10 उपाय को अपने घर को धन धान्य से भरने के लिए | Jaaniye aur apnaiye vastu Shastra ke in 10 upaye ko apne ghar ko dhan dhaanya se bharne ke liye
जानिये और अपनाइए वास्तु शास्त्र के इन 10 उपाय को अपने घर को धन धान्य से भरने के लिए | Jaaniye aur apnaiye vastu Shastra ke in 10 upaye ko apne ghar ko dhan dhaanya se bharne ke liye
जानिये और अपनाइए वास्तु शास्त्र के इन 10 उपाय को अपने घर को धन धान्य से भरने के लिए | Jaaniye aur apnaiye vastu Shastra ke in 10 upaye ko apne ghar ko dhan dhaanya se bharne ke liye

जानिये और अपनाइए वास्तु शास्त्र के इन 10 उपाय को अपने घर को धन धान्य से भरने के लिए | Jaaniye aur apnaiye vastu Shastra ke in 10 upaye ko apne ghar ko dhan dhaanya se bharne ke liye




जानिये और अपनाइए वास्तु शास्त्र के इन 10 उपाय को अपने घर को धन धान्य से भरने के लिए | Jaaniye aur apnaiye vastu Shastra ke in 10 upaye ko apne ghar ko dhan dhaanya se bharne ke liye

कई लोग चाहे कितनी ही कोशिश कर लें, लेकिन वे अपने धन को संभाल कर नहीं रख पाते (can’t save money)। न चाहते हुए भी उन्हें लगातार पैसों का नुकसान होता ही रहता है। ऐसे में इसका कारण समझ पाना बहुत मुश्किल हो जाता है। कई बार लगातार पैसों के नुकसान (loss of money) का कारण वास्तु संबंधी दोष भी हो सकते हैं।

  1. धन रखने की दिशा

आपका लॉकर (locker) या तिजोरी उत्तर दिशा में खुले- आमतौर पर घर में हम अपने गहने या पैसे वगैरह अलमारी (almirah) के लॉकर में रखते हैं। वास्तु के मुताबिक लॉकर दक्षिण-पश्चिम की दीवार से सटा होना चाहिए ताकि यह उत्तर दिशा में खुले। ऐसा इसलिए क्योंकि भगवान कुबेर (Bhagwan Shri Kuber Ji) उत्तर दिशा में रहते हैं। साथ ही आपका कैश लॉकर किसी फोकस लाइट (belowe focised light) के नीचे नहीं होना चाहिए। इससे घर के साथ ही बिजनेस में भी आर्थिक परेशानियां (financial problems) आ सकती हैं।

  1. नल से पानी टपकना

घर के नलों में से पानी का टपकना बहुत आम बात मानी जाती है। इसलिए इसे बहुत से लोग अनदेखा (ignore) कर जाते हैं, लेकिन नल से पानी का टपकते रहना भी वास्तुशास्त्र में आर्थिक नुकसान का बड़ा कारण (important reason) माना गया है। वास्तु के नियम के अनुसार, नल से पानी का टपकते रहना धीरे-धीरे धन के खर्च होने का संकेत होता है। इसलिए नल में खराबी (problem in tap) आ जाने पर तुरंत बदल देना चाहिए।

  1. उत्तर-पूर्व दिशा में ना हों सीढ़ियां

घर की सीढ़ियां (stairs) कभी भी उत्तर-पूर्व दिशा में नहीं बनानी चाहिए। घर की यह दिशा हमेशा व्यवस्थित होनी चाहिए जिससे घर में धन-संपदा आकर्षित (attract) होती है। साथ ही इस दिशा में किसी तरह की कोई मशीन (machine) भी नहीं रखनी चाहिए।

  1. बेडरूम में लगाएं धातु की चीजें

बेडरूम (bedroom) में गेट के सामने वाली दीवार के बाएं कोने पर धातु की कोई चीज लटकाना (hang something of iron metal) चाहिए। वास्तुशास्त्र के अनुसार, यह स्थान भाग्य और संपत्ति का क्षेत्र होता है। इस दिशा में दीवार में दरारें (cracks in wall) आदि नहीं होना चाहिए। इस दिशा का कटा होना भी आर्थिक नुकसान का कारण होता है।

  1. कैसी हो घर की छत

घर की छत (house roof) बनवाते वक्त ध्यान रखें कि उत्तर-पूर्व दिशा की छत, दक्षिण-पश्चिम की तरफ की छत से थोड़ी नीची रहे। यानी घर की छत में दक्षिण-पश्चिम से उत्तर-पूर्व की ओर ढलान होनी चाहिए।

  1. घर में न रखें कबाड़

घर में टूटे-फूटे बर्तन (broken crockery) एवं कबाड़ को जमा करके रखने से घर में नेगेटिव ऊर्जा (negative energy) फैलती है। टूटा हुआ पलंग, अलमारी या लकड़ी का अन्य सामान भी घर में नहीं रखना चाहिए, इससे आर्थिक लाभ में कमी आती है और खर्च बढ़ता है। छत पर या सीढ़ियों के नीचे कबाड़ जमा करके रखना भी आर्थिक नुकसान का कारण (reason of financial loss) बनता है।

  1. साफ सुथरे खिड़की-दरवाजे

घर के खिड़की-दरवाजे हमेशा साफ सुथरे (clean doors and windows) होने चाहिए। कहते हैं ऐसा ना होने पर घर में आने वाले धन-संपदा की राह में रुकावट आती है। साथ ही घर के किसी नल या टोटी का लीक (leakage of tap is unlucky) होना भी अशुभ माना जाता है। क्योंकि ये पैसों की बर्बादी का संकेत है ठीक उसी तरह जिस तरह पानी बर्बाद हो रहा है।

  1. मुख्य दरवाजे की सजावट

अगर आप चाहते हैं कि आपके घर में धन-संपदा और लक्ष्मी का वास हमेशा बना रहे तो इसके लिए जरुरी है कि आप अपने घर के मुख्य दरवाजे को सजाकर रखें। दरवाजे पर नेमप्लेट (name plate) सबसे जरुरी है।

  1. जामुनी या बैंगनी रंग का महत्व

पर्पल (purple color) या जामुनी रंग, धन-संपत्ति का प्रतीक है। लिहाजा अपने घर के अंदर किसी जामुनी रंग का पौधा (plant of purple color) लगाना अच्छा साबित हो सकता है। अगर ये संभव ना हो तो कम से कम जामुनी रंग का कोई गमला ही घर में जरुर रखें।

  1. ध्यान रखें पानी की निकासी

वास्तुशास्त्र के अनुसार, जल की निकासी (water sewerage) कई चीजों को प्रभावित करती है। जिनके घर में जल की निकासी दक्षिण या पश्चिम दिशा में होती है उन्हें आर्थिक समस्याओं के साथ अन्य कई तरह की परेशानियों का सामना (facing problems) करना पड़ता है। उत्तर दिशा एवं पूर्व दिशा में जल की निकासी आर्थिक दृष्टि से शुभ माना गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*