Home » Prernadayak/ Motivation » महापुरुषों की विफलता से सफलता की कहानी | mahapurusho ki vifalta se safalta ki kahani
dharmik
dharmik

महापुरुषों की विफलता से सफलता की कहानी | mahapurusho ki vifalta se safalta ki kahani




महापुरुषों की विफलता से सफलता की कहानी | mahapurusho ki vifalta se safalta ki kahani

जीवन में या किसी भी व्यवसाय (business) में सफलता प्राप्त करने के लिए लगातार सकारात्मक (positive) रहना बहुत आवश्यक है. अपने आप को उस क्षेत्र में ले जाए जहा बहोत ज्यादा कचरा (मुश्किलें) हो, और जहा आपकी इच्छा अनुसार कुछ नहीं हो रहा हो. इसलिए, जब-जब भी मै निराश (sad) होता हु तो मुझे इन महापुरुषों की असफलता याद आती है..

तो आइये देखते है इन 9 महान लोंगो की विफलता से सफलता की कहानी शोर्ट में|

1. बिल गेट्स / Bill Gates
माइक्रोसॉफ्ट (microsoft) के संस्थापक और अध्यक्ष, ने पूरी तरह से 21 वी सदी में कंप्यूटर (computer) को काम में लाकर काम करने की पूरी संस्कृति ही बदल डाली. वे एक दशक से भी ज्यादा दुनिया के सबसे अमिर व्यक्ति (richest person) रह चुके है. 1970 के पहले अपना Business शुरू करने से पूर्व उन्हें हॉवर्ड विश्वविद्यालय (howard university) से निकाला गया था. और सबसे ज्यादा मजेदार बात ये है की, उन्होंने अपनी सॉफ्टवेयर कंपनी (जो बाद में माइक्रोसॉफ्ट बनी) सॉफ्टवेयर तंत्रज्ञान को 50 US $(डॉलर) में ख़रीदा था.

2. अब्राहम लिंकन  / Abraham Lincoln
ने अपने पुरे जीवनकाल (lifetime) में 5 साल से ज्यादा पढाई नही की. और जब वे बड़े हुए, तो वे राजनीती (politics) में शामिल हुए और संयुक्त राष्ट्र अमेरिका के 16 वे राष्ट्रपति बनने से पूर्व 12 बार असफल (fail) हुए.

3. इस्साक न्यूटन / Isaac Newton
उनके काल के बहुत बड़े अंग्रेजी गणित (english mathematician) के जानकार थे. उनके प्रकाश विज्ञान (science) और गुरुत्वाकर्षण (gravity) के आविष्कार (invention) ने उन्हें दुनियाभर में पहचान दिलाई और महान वैज्ञानिक भी बनाया. ऐसे कई विचार है की इस्साक बचपन से ही होशियार थे, लेकिन ऐसा नहीं है. वे अपनी स्कूल की श्रेणी में बहुत ही अस्वस्थ थे और उनके शिक्षक उन्हें बेवकूफ (stupid) समझते थे.

4. थॉमस एडिसन / Thomas Edison
थॉमस एडिसन ने बहुत सारे यंत्रो को विकसित (develop) किया जिनका 20 वी सदी के जीवन पर बहुत प्रभाव पड़ा. एडिसन को इतिहास (history) का बहुफलदायक अविष्कारक कहा जाता है, जिनके नाम आविष्कार करने के 1093 U.S अधिकार थे. जब वे बच्चे (kid) थे तब उनके शिक्षक ने उनसे कहा था की वे कुछ भी सिखने के लोए बहुत ही बुद्धू है. और जब वे बड़े हुए, तब एक सफल लाइट बल्ब (light bulb) बनाने से पूर्व उन्होंने 9000 से भी ज्यादा प्रयोग किये.

5. वाल्टर डिज्नी / Walt Disney
एक अमेरिकन सिनेमा (american theater) के निर्माता, निर्देशक, सिनेमा लेखक, आवाज़ कर्ता और कार्टून फिल्म (cartoon movies) बनाने वाले दिग्दर्शक थे. उन्होंने दुनिया की सबसे बड़ी इशारा देने वाले चित्र बनाने की सबसे बड़ी कंपनी डिज्नी की स्थापना की. उसकी संस्था (association) आज वाल्ट डिज्नी कंपनी के नाम से जानी जाती है, जो साल में 30 बिलियन $ का राजस्व बनती है. डिज्नी ने अपना पहला Business खुद के ही घर में शुरू किया और उनका निर्माण (production) किया पहला कार्टून असफल भी हुआ. उनके पहले पत्रकार सम्मलेन में, एक अखबार के संपादक (writer) ने उनका उपहास भी किया क्यों की उनके पास एक अच्छी सिनेमा बनाने की कल्पना नहीं थी.

6. विंस्टन चर्चिल / Winston Churchill
विंस्टन चर्चिल 6 वी कक्षा Fail थे. लेकिन उन्होंने कठिन परिश्रम (hard work) करना कभी नहीं छोड़ा. वो प्रयत्न करते रहे और दुसरे विश्व युद्ध (2nd world war) के दौरान यूनाइटेड किंगडम (united kingdom) के प्रधानमंत्री बने. चर्चिल साधारणतः ब्रिटेन और दुनिया के इतिहास (history) में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण नेता थे. BBC के 2002 के चुनाव में जिसमे 100 महानतम ब्रिटिश लोगो का चुनाव होना था उसमे सभी ने चर्चिल को सबसे ज्यादा महत्त्व दिया गया.

7. अल्बर्ट आइंस्टीन / Albert Einstein
एक सैधान्तिक भौतिकशास्त्री थे जिन्हें 20 वी सदी में सबसे ज्यादा महत्त्व दिया जाता था. 1921 में उन्हें Photo electronic प्रभाव के स्पष्टीकरण के लिए और सैधान्तिक भौतिक विज्ञानं में उनकी सेवा के लिए नोबेल पुरस्कार (nobel prize) से सम्मानित किया गया. जबकि, जब आइंस्टीन जवान थे, उसके माता-पिता समझते थे की वे दिमाग (brain) से कमजोर है. उसके स्कूल के ग्रेड भी बहुत कम थे इसलिए उनके शिक्षक (teacher) उन्हें स्कूल छोड़ देने के लिए कहते थे और कहते थे की, “ तुम कभी किसी भी कीमत पर कुछ नहीं कर सकते”.

8. हेनरी फोर्ड / Henry Ford
हेनरी फोर्ड की पहली दो मोटर गाडी (motor cars) की कंपनी असफल हुई. लेकिन उन्होंने कंपनी स्थापित करना नहीं छोड़ा और उनकी फोर्ड मोटर कंपनी (ford company) पहली सबसे प्रचलित और वहन करने योग्य कीमत पर कार बनाने वाली कंपनी बनी. कंपनी सिर्फ यूनाइटेड स्टेट (united states) और यूरोप (europe) में ही नहीं बल्कि 20 वी सदी में उनकी कंपनी आर्थिक क्षेत्र और समाज में भी प्रचलित हो गयी थी. उनके अधिकांश उत्पादन, ज्यादा मजदूरी और कम कीमत ने प्रबंधक स्कूल (business management school) की शुरुवात की जिसे “Fordism” कहा जाता है. उनके समय में वो दुनिया के 3 सबसे ज्यादा अमिर व्यक्तियों में से एक थे.

9. सोइचिरो हौंडा / Soichiro Honda
सोइचिरो हौंडा को दुसरे विश्व युद्ध के दौरान Toyoto Motor Corporation ने साक्षात्कार (Interview) में असफलता मिली थी. वो तब तक “Jobless” थे जब तक उनके पडोसी (neighbor) ने उनकी घर पे बनाई स्कूटर (scooter) नहीं खरीदी. परिणामतः उन्होंने खुद के ही घर में खुद का ही Business/Company शुरू किया/की. जिसका नाम HONDA है. आज यह दुनिया की सबसे ज्यादा वाहन निर्माण (vehilce production) करने वाली सबसे ज्यादा मुनाफा (most poritable company) कमाने वाली कंपनियों में से एक है, और अपने उत्पादन से GM और क्रिसलर को पराजित किया. आज पुरे विश्व में 437 जगहों पर इनका प्रसार है, और हौंडा एक विकसित वाहन का निर्माण करने वाली कंपनी है. हौंडा ने वाहन के साथ–साथ छोटे-छोटे कलपुर्जो, engines और Sport-Car का भी उत्पादन किया है.

One comment

  1. Wow great stories or successful peoples

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*