Home » Aarti » महाशिवरात्रि :असंभव काम भी संभव हो जाता है इस शिव स्तोत्र से | Mahashivratri: Asambhav kaam bhi sambhav ho jata Shri Shivji ke is stotra se
shiva and parvati
shiva and parvati

महाशिवरात्रि :असंभव काम भी संभव हो जाता है इस शिव स्तोत्र से | Mahashivratri: Asambhav kaam bhi sambhav ho jata Shri Shivji ke is stotra se




महाशिवरात्रि :असंभव काम भी संभव हो जाता है इस शिव स्तोत्र से | Mahashivratri: Asambhav kaam bhi sambhav ho jata Shri Shivji ke is stotra se

भगवान शंकर (Bhagwan Shri Shankar Ji) की महिमा का वर्णन अनेक धर्म ग्रंथों (Dharam Granth – Religious Books) में किया गया है। सभी में एक ही बात कही गई है कि भगवान शिव अपने भक्तों का कल्याण करने के लिए तत्पर रहते हैं। इनकी उपासना करने से जीवन का हर सुख मिलता है। धर्म ग्रंथों के अनुसार यदि किसी असंभव कार्य को संभव करना हो तो शिवषडक्षर स्तोत्र का पाठ करना चाहिए। इस स्त्रोत का पाठ महाशिवरात्रि  (Maha ShivRatri)  के दिन करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है।

शिवषडक्षरस्तोत्रम्

ऊँकारं बिंदुसंयुक्तं नित्यं ध्यायंति योगिन:।
कामदं मोक्षदं चैव ओंकाराय नमो नम:।।
नमंति ऋषयो देवा नमंत्यप्सरसां गणा:।
नरा नमंति देवेशं नकाराय नमो नम:।।
महादेवं महात्मानं महाध्यानं परायणम्।
महापापहरं देवं मकाराय नमो नम:।।
शिवं शान्तं जगन्नाथं लोकनुग्रहकारकम्।
शिवमेकपदं नित्यं शिकाराय नमो नम:।।
वाहनं वृषभो यस्य वासुकि: कंठभूषणम्।
वामे शक्तिधरं देवं वकाराय नमो नम:।।
यत्र यत्र स्थितो देव: सर्वव्यापी महेश्वर:।
यो गुरु: सर्वदेवानां यकाराय नमो नम:।।
षडक्षरमिदं स्तोत्रं य: पठेच्छिवसंनिधौ।
शिवलोकमवाप्नोति शिवेन सह मोदते।।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*