Home » Kahaniya/ Stories » मां | Maa | Mother
dharmik
dharmik

मां | Maa | Mother




मां | Maa | Mother

एक घर मे छोटा बच्चा मेहमान (relative) बनकर
आया!
घर वालो ने मिलकर खूब जश्न मनाया!
पांच साल का हुआ जब वो बच्चा
उसको अच्छे स्कूल (school) मे डलवाया!
मां बाप की मेहनत से आखिर
पढ लिखकर उसने अपना नाम कमाया!
खुशी-खुशी अपने प्यारे बेटे का
मां-बाप ने ब्याह (marriage) रचाया!
वो लड़का अपनी मरज़ी की दुल्हन (bride) घर मे
लाया!
ज्यादा समय तक उस प्यारे घर मे
बाप (father) शांति कायम नही रख पाया!
मर गया बेचारा टेन्शन (tension) मे जब
उसको हार्ट अटेक (heart attack) आया!
मां को सदमा लगा पति उसको
आकर बीमारी ने उसपे भी प्र्भुत्व
जमाया!
लड़के ने मां का हाल जानने को
घर पे फोन (phone) लगाया!
पूछा पत्नी से मां को दवाई दिलाई
क्या
और क्या तुमने मां को इंजेक्शन (injection) लगवाया!
पत्नी ने बडे. गुस्से मे सारा हाल
सुनाया
नाटक है सब बुढीया के इसे कुछ
नही हो पाया!
उस बीवी के गुलाम आशिक़ (lover) ने भी
पत्नी के हां मे सिर हिलाया!
बीमार मां (old mother) की आखे ज़म सी गई
फिर उसको सांस ना आया!
आकर शहर (city) के डाक्टर ने
देखा माता जी को
उसने भी मायूस हो कर मां को म्र्त
बताया!
सुनकर मां की मौत (death) की खबर
लड़का दोडा. दोडा. आया!
मां के सिरहाने एक उसको
काग़ज का टुकडा (piece of paper). रखा पाया!
उसमे लिखे शब्दो को उसको
किसी ने उसको सुनाया!
“मेरे हाथो छोटा सा तैयार होकर तू
स्कूल गया!
बडा होकर बीवी के पल्लू के झूले मे झूल
गया!
दो दिन के पत्नी के प्यार मे तू!
मां की सारी उमर का प्यार (love of whole life) भूल गया!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*