Home » Gyan » लड़के कर बैठते हैं यह बेवकूफियां लड़कियों को पटाने के चक्‍कर में| Ladke kar baithte hai yeh bewakoofiyan ladkiyon ko patane ke chakkar mein.
dharmik
dharmik

लड़के कर बैठते हैं यह बेवकूफियां लड़कियों को पटाने के चक्‍कर में| Ladke kar baithte hai yeh bewakoofiyan ladkiyon ko patane ke chakkar mein.




लड़के कर बैठते हैं यह बेवकूफियां लड़कियों को पटाने के चक्‍कर में| Ladke kar baithte hai yeh bewakoofiyan ladkiyon ko patane ke chakkar mein.

बाबा आदम के जमाने से ही लड़के, लड़कियों को पटाने और उन्हें रिझाने (impress) का प्रयास करते आ रहे हैं और करते रहेंगे। हर किसी लड़के के जीवन में ऐसा एक पल जरूर आता है जब वह किसी ना किसी लड़की को प्रभावित करने की कोशिश में लगा रहता है।

हर लड़का, लड़की को खुश करने के चक्कर में इतना उतावला (excited) हो जाता है कि इस उतावलेपन के चक्कर में वो उसे खुश करने की बजाय अपनी हंसी उड़वा बैठता है।
कौन-कौन सी गल्‍तियां (mistakes) करते हैं लड़के, ये इशारे करेगा आपका आशिक हम आपको ऐसी ही कुछ बेवकूफियां बता रहे हैं जो कि अक्सर लड़के लड़कियों के सामने करते हैं।

दिखावा
लड़की को प्रभावित करने के लिए कई लोग दिखावे का तरीका अपनाते हैं। वे कई तरह का दिखावा करने की कोशिश करते हैं लेकिन समझदार लड़कियां इसे पहले ही समझ लेती हैं कि ये तो सिर्फ झिछोरपन है जिससे आप उन्हें बेवकूफ (stupid) बना रहे हैं।

पहनावा
यदि आप भद्दे और ऐसे कपड़े पहनकर उन्हें रिझाने की कोशिश कर रहे हैं जो आप पर जमते नहीं है, तो ऐसा क़तई ना करें। कहीं ऐसा न हो कि आप सिर्फ़ हंसी का पात्र बनकार जाओ। इसलिए वो ही पहने जो आप पर सूट करता हो।

जो बस के बाहर हो उसे ना करें
यदि आप शराब (whiskey) नहीं पीते हैं या आपको सूट नहीं करती है तो फिर क्या जरूरत है आपको शराब पीने की और बाद में उल्टियाँ (vomiting) करने की, ऐसा ना करे तो आपकी सेहत के लिए बेहतर है।

अपनी झूंठी ताकत दिखाना
कई बार आप लड़की को अपनी ताकत दिखाने के लिए किसी को लड़ने के लिए चैलेंज करते हो लेकिन हर बार ये चीजें काम नहीं आती। फिल्मों में ये तरीके चलते हैं लेकिन वास्तविक जीवन में ऐसा करने वालों को झगड़ालू इंसान समझा जाता है। अधिकतर महिलाओं को हिंसा (fight) और खून-खराबा पसंद नहीं होता है, इसलिए इस तरह के कार्य के बारे में ना सोचे तो बेहतर होगा|

एक्टिंग हर जगह काम नहीं आती है
यदि वो आप में रुचि ले रही है तो क्या जरूरत है बार-बार फोन को देखकर अपने आपको व्यस्त (busy) दिखाने की, जब कि किसी का फोन (phone) तो आ ही नहीं रहा होता है। ऐसा करने से बनती बात बिगड़ भी सकती है।

अपने अंदर का कुक दिखाना
माना कि अधिकतर लड़कियों को अच्छा खाना बनाने वाले लड़के पसंद होते हैं, पर बदबूदार (stinky) और बेस्वाद डिश बनाकर अपनी बेइज्जती करवाने में भला कहाँ की समझदारी है, इसलिए बिना सीखे कुक बनने कि गलती ना करे।

हूँ-हां, जैसे शब्दों का इस्तेमाल
आजकल हर कोइ मॉडर्न (modern) हुआ जा रहा हैं और हूँ-हां जैसे शब्दों का इस्तेमाल अपनी बातों में करना एक चलन सा हो गया है, खास तौर पर चैटिंग (chatting) में। लेकिन किसी लड़की को ऐसे शब्द हजम ना हों और कहीं वो आपसे प्यार करने की बजाय ऐसे शब्दों के ज्यादा इस्तेमाल को देखकर आपसे नफ़रत ना करने लग जाए।

हंसमुख रहें
लड़कियों को ज्यादातर मजाकियां लड़के पसंद होते हैं। ये सच है, बेशक उन्हें हँसाएँ पर अपनी हंसी ना बनवाएँ।

मुझे सिर्फ तुम पसंद हो
हर लड़की को ये ही बोलना यदि आप ऐसा कर रहे हैं तो अपना झूठ (lie) बड़ी समझदारी से बोलें, कहीं लेने के देने ना पड़ जाएँ। दोनों हाथों में लड्डू रखने के चक्कर में बैडमिंटन एम्पायर (badminton umpire) बनकर दोनों पालों पर नजर रखने के चक्कर में कहीं आपका ख़ुद का खेल ना बिगड़ जाये।

आपको अगर फुटबॉल मैच देखना है तो उसे पार्क में क्यों ले जाते हो
प्रकृति प्रेमी (nature lover) बनने की कोशिश करना अच्छी बात है पर लेकिन यदि आपकी इच्छा फुटबॉल मैच (football match) देखने की है तो उसे पार्क में ले जाने से क्या मतलब है। ऐसे में ना आप मजे ले पाओगे ना वो। दूसरों पर किसी चीज में झूंठी रुचि दिखाकर आप ख़ुद को परेशानी में डाल सकते है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*