Home » Tantra Mantra » वास्तु की ये बातें ध्यान रखेंगे तो घर में बढ़ेगी सकारात्मक ऊर्जा- Vaastu ki yeh baatein dhyaan rakhenege to ghar mein badegi sakaratmak oorja
dharmik
dharmik

वास्तु की ये बातें ध्यान रखेंगे तो घर में बढ़ेगी सकारात्मक ऊर्जा- Vaastu ki yeh baatein dhyaan rakhenege to ghar mein badegi sakaratmak oorja




वास्तु की ये बातें ध्यान रखेंगे तो घर में बढ़ेगी सकारात्मक ऊर्जा- Vaastu ki yeh baatein dhyaan rakhenege to ghar mein badegi sakaratmak oorja

वास्तु सकारात्मक (positive) और नकारात्मक ऊर्जा (negative energy) के सिद्धांत पर काम करता है। यदि घर में कोई वस्तु गलत स्थान पर रखी है तो उससे घर में नकारात्मक ऊर्जा को बल मिलता है और परिवार के सदस्यों को परेशानियों (problems for family members) का सामना करना पड़ता है।वास्तु के नियमों का पालन करते हुए दिशाओं और वस्तुओं का ध्यान रखा जाए तो घर का वातावरण शुभ रहता है।

दिशाएं और उनके वास्तु अनुसार नाम उत्तर, दक्षिण, पूर्व और पश्चिम दिशाओं के साथ ही चार दिशाएं और बताई गई हैं।

ये इस प्रकार हैं… उत्तर-पूर्व को ईशान कोण कहा जाता है। उत्तर-पश्चिम को वायव्य कोण, दक्षिण-पूर्व को आग्नेय कोण एवं दक्षिण-पश्चिम को नैऋत्य कोण कहा जाता है। यहां जानिए वास्तु की कुछ टिप्स, जिनसे घर में सकारात्मक ऊर्जा बढ़ती है…

खाना खाते समय ध्यान रखें ये बातें

1. वास्तु की मान्यता है कि पूर्व की ओर मुख करके भोजन (eating food) करने से आयु बढ़ती है।
2. जो लोग उत्तर दिशा की ओर मुख करके भोजन करते हैं, उन्हें लंबी आयु के साथ ही लक्ष्मी कृपा (lakshmi mata’s blessings) भी प्राप्त होती है।
3. दक्षिण दिशा, यम की दिशा मानी जाती है और इस ओर मुख करके खाना खाने से भय बढ़ता है। बुरे सपने (bad dreams) दिखाई देते हैं।
3. पश्चिम दिशा की ओर मुख करके खाना खाते हैं तो भोजन से स्वास्थ्य लाभ (health gain) प्राप्त नहीं हो पाता है। ध्यान रखें हमें उत्तर या पूर्व दिशा की ओर मुख करके भोजन ग्रहण करना चाहिए।
4. हमेशा जमीन पर बैठकर ही भोजन करना चाहिए। थाली (plate) को जमीन पर न रखें, किसी चौकी या आसन पर रखना चाहिए।
5. घर में खिड़की दरवाजों (doors and windows) की संख्या सम हो तो शुभ रहता है। सम यानी 2, 4, 6, 8 या 10. दरवाजे खिड़कियां अंदर की तरफ ही खुलना चाहिए, यह श्रेष्ठ रहता है।
6. घर में फालतू और बेकार सामान नहीं होना चाहिए। इस चीजों से घर में तनाव (stress) बना रहता है।
7. धन संबंधी लाभ चाहते हैं तो तिजोरी का मुंह उत्तर या पूर्व दिशा में रखना चाहिए। धन के स्थान को सुगंधित बनाए रखना चाहिए। इसके लिए अगरबत्ती, इत्र, परफ्यूम (perfume) आदि का उपयोगा किया जा सकता है।
8. तिजोरी के दरवाजे पर कमल के आसन पर बैठी हुई महालक्ष्मी की तस्वीर (photo) लगानी चाहिए।
9. दक्षिण की दीवार पर दर्पण (mirror) नहीं लगाना चाहिए। दर्पण पूर्व या उत्तर की दीवार पर होगा तो श्रेष्ठ रहेगा।
10. घर का मुख्य द्वार पूर्व या उत्तर दिशा में हो तो श्रेष्ठ रहता है, लेकिन ऐसा न हो तो घर के मुख्य द्वार पर स्वास्तिक, श्रीगणेश का चिह्न (sign/symbol) लगाना चाहिए।
11. घर के मुख्य द्वार पर तुलसी का पौधा (tulsi plant) रखना चाहिए। सुबह-सुबह तुलसी को जल अर्पित करें। शाम को तुलसी के पास दीपक जलाएं। पूर्व या उत्तर दिशा में तुलसी लगाने से आत्मविश्वास (confidence) में बढ़ोतरी होती है।
12. दीवार या छत पर दरार हो तो उन्हें जल्दी ठीक (renovate) करवा लेना चाहिए।
13. शाम के समय कुछ देर के लिए पूरे घर में रोशनी (light) अवश्य करनी चाहिए।
14. घर में मकड़ी के जाले नहीं होना चाहिए। ऐसा होने पर राहु ग्रह से अशुभ फल प्राप्त होते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*