Home » Aatma/ bhoot Pret » विशव की 10 सबसे डरावनी जगह | Vishav ki 10 sabse daravni jagah
dharmik
dharmik

विशव की 10 सबसे डरावनी जगह | Vishav ki 10 sabse daravni jagah




विशव की 10 सबसे डरावनी जगह | Vishav ki 10 sabse daravni jagah

भूत, प्रेत, आत्माओं का अस्तित्व हर युग, हर सभ्यता और हर देश में रहा है। इसलिए इस संसार के प्रत्येक हिस्से में कुछ भूतिहा जगह पाई जाती है। आज हम आपको संसार की 10 डरावनी जगहों के बारे में बता रहे है।

1. बीचवर्थ का पागलखाना, ऑस्ट्रेलिया (The Beechworth Lunatic Asylum, Australia)-

बीचवर्थ का पागलखाना, ऑस्ट्रेलिया के विक्टोरिया (Victoria) में है, जो 1867 से 1995 तक एक मेंटल हॉस्पिटल (पागलखाना- Mental Hospital) था। इस पागलखाने में एक साथ 1200 मरीजों के रहने की व्यवस्था थी। इस पागलखाने के 130 साल के इतिहास में यहां पर 9000 पेशेंट मरे हैं। माना जाता है कि यहां उनकी आत्माएं हैं, इसलिए लोग यहां जाने से डरते हैं।

2. द प्रिंसेस थियेटर, ऑस्ट्रेलिया  (The Princess Theatre, Australia)-

इस थियेटर में 1888 में एक इटैलियन सिंगर फ्रेडेरिकी बेकर (Italian Singer Fredriki Bekar) की स्टेज पर मौत हो गई थी।  माना जाता है की  तब से ही उसकी आत्मा यहां भटकती है। कई सालों तक यहां जब कोई परफॉर्मेंस होती थी तो उस दौरान फ्रेडरिक के लिए एक सीट रिजर्व रखी जाती थी। ऐसा ही कुछ किस्सा भारत के पूर्व सैनिक बाबा हरभजन सिंह (Harbhajan Singh) से जुड़ा है, जिनके लिए आज भी भारत-चाइना के बीच होने वाली हर फ्लैग-मीटिंग में एक कुर्सी खाली छोड़ी जाती है ताकि उनकी आत्मा वो मीटिंग अटैंड कर सके। सम्पूर्ण कहानी यहाँ पढ़े – बाबा हरभजन सिंह मंदिर – सिक्किम – इस मृत सैनिक की आत्मा आज भी करती है देश की रक्षा

3. ओकिघारा, जापान (Aokigahara, Japan) –

जापान में माउंट फुजि की तलहटी में बसा, ओकिघारा का यह जंगल, दुनिया में सुसाइड फॉरेस्ट (Suicide Forest) के नाम से मशहूर है। यहां सैकड़ों की संख्या में हर साल लोग सुसाइड के लिए जाते हैं। सुसाइड किए हुए लोगों की लाशों को हटाने के लिए यहाँ की लोकल पुलिस सालाना अभियान चलाती है। लेकिन यहाँ से सालाना कितनी लाशें बरामद होती है इसका खुलासा पुलिस इस डर से नहीं करती है की इससे लोगों को और ज्यादा सुसाइड करने की प्रेरणा मिलेगी।  सिर्फ एक बार 2004 में यह आंकड़ा घोषित हुआ था। तब यहाँ से 108 लाशें बरामद हुई थी।

लोगों को सुसाइड से रोकने के लिए पुलिस ने जंगल में जगह-जगह नोटिस बोर्ड लगा रखे है जिन पर लिखा है – “आपकी ज़िन्दगी आपके पेरेंट्स के लिए एक अनमोल तोहफा है “, तथा “कृपया मरने का निश्चय करने से पूर्व एक बार पुलिस से संपर्क करे। ” कहा जाता है कि जिन लोगों ने यहां सुसाइड की हैं, उनकी आत्माओं का यहां वास है। जबकि एक प्राचीन किवदंती के अनुसार एक बार प्राचीन जापान (Japan) में जब कुछ लोग अपना भरण-पोषण करने में असमर्थ थे तो उन्हें ओकिघारा के इस जंगल में छोड़ दिया गया था, जहाँ पर उन सबकी भूख से मौत हो गई थी। ऐसा माना जाता है की वही भूत इस जंगल में आज शिकार करते है।

4. लुलिया हसडेउ, रोमानिया  (Iulia Hasdeu Castle, Romania) –

रोमानिया में स्तिथ इस इमारत का निर्माण लुलिया नाम की 19 साल की लड़की की मौत के बाद उसके पिता ने करवाया था। पिता ने इस महल और अपने पूरे जीवन को लुलिया के लिए समर्पित कर दिया और आध्यात्मिक (Spiritual) हो गए। कहते हैं कि लुलिया के पिता इस इमारत के एक कमरे में लुलिया की आत्मा से संपर्क किया करते थे। इस कमरे की सारी दीवार काले रंग से पुती हुई थी। लोगों का यह मानना है कि आज भी यहां लुलिया सफ़ेद कपड़ों में रात को टहलती है, और पियानो (Piano) पर दर्दनाक संगीत बजाती है।

5. हेल फायर क्लब, आयरलैंड (Hell Fire Club on Montpelier Hill, Ireland) –

आयरलैंड की इस डरावनी इमारत का निर्माण मोंटपिलर हिल (Mont Piller Hill) में 1725 के दौरान किया गया था। इस जगह का इस्तेमाल डबलिन इलीट, अय्याशी और शैतान की पूजा के लिए किया करते थे। इसे आयरलैंड की सबसे डरावनी जगहों में शुमार किया जाता है।

6. मनिला फिल्म सेंटर, फिलीपिंस ( Manila Film Center, Philippines) –

हालांकि यह टिपिकल डरावनी जगहों की तरह दिखाई तो नहीं देता है लेकिन इसे यहां सबसे डरावनी जगहों में शुमार किया जाता है। गौरतलब है कि 1981 में यहां निर्माण कार्य के दौरान 169 मजदूर सीमेंट ढहने से दब गए थे इसमें कई की दर्दनाक मौत हो गई थी। दुर्घटना के बाद करीब 9 घंटे तक कोई रेस्क्यू (Rescue) यहां नहीं पहुंचा था। कहते हैं मृत मजदूरों की आत्माएं आज भी यहां भटकती हैं, कई लोग उन्हें देखने और अपने डरावने अनुभव (Horrible Experiences) का दावा करते हैं।

7. ड्रैगसोलम स्लॉट, डेनमार्क (Dragsholm Slot, Denmark) –

 इस दुर्ग का निर्माण 1215 में किया गया था जिसे 1694 में फिर से बनाया गया। यहां कई सारे कैदियों (Criminals) को एकसाथ रखा जाता था, और उन्हें यातनाएं दी जाती थी। कहते हैं कि यहां तीन भूत हैं, जिनमें एक ग्रे लेडी और एक महिला लेडी जबकि एक कैदी का भूत है। अगर यहां के लोगों के अनुभव की माने तो कई बार इनके यहां होने की बाते सामने आई हैं।

8. रिनहम हॉल, ब्रिटेन (Raynham Hall, United Kingdom) –

यह ब्रिटेन की डरावनी जगह मानी जाती है, कहते हैं कि एक भूरी लेडी का भूत यहां है। लोग भूत को भूरी लेडी (Brown Lady) इसलिए कहते है क्योंकि वह भूरे रंग का लबादा ओढ़े रहती है। लोगों का मानना है कि जो भूत दिखाई देता है वह ब्रिटेन के पहले प्रधानमंत्री की बहन डोर्थी वालपूल (Dorty Wallpool) की आत्मा है। जो कहानी प्रचलित है उसके मुताबिक़ उसे यहां के एक लोकल लॉर्ड के साथ अफेयर करते हुए पकड़ लिया गया था। बाद में, उसे रिनहम हॉल के एक कमरे में कैद कर दिया गया था। वह मर गई और उसकी आत्मा तब से इस इमारत में भटकती है। डोर्थी के भूत को कई बार देखने का दावा किया जाता है।

9. चटेऊ डी चटेऊब्रियांट, फ्रांस (Château de Châteaubriant, France) –

इस महल की कहानी एक महिला की कमरे में कैद के दौरान हुई मौत से जुड़ी है। यह महल 11वीं शताब्दी में बनाया गया था। कहानी जीन डे लावल (Jean De Laval) और उनकी पत्नी से जुड़ी हुई है। कहते हैं कि 1537 में लावल को अपनी पत्नी पर शक था और उसने उसे एक कमरे में बंद कर जहर देकर मार डाला। लावल के पत्नी की आत्मा इस दुर्ग में आज भी भटकती है कई लोग दावे से उसे देखने की बात करते हैं।

10. भानगढ़ का किला, राजस्थान, भारत (The Bhanghar Fort, Rajasthan, India) –

यह भारत की मोस्ट हॉन्टेड जगह है।  यह राजस्थान के अलवर जिले (Alvar District in Rajasthan) में है, जहां डर के मारे लोग शाम अंधेरा होने के बाद और सुबह से पहले नहीं जाते हैं। रात में कुछ घटनाओं के बाद आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया (एएसआई) ने भी यहां साइन बोर्ड पर चेतावनी लिखी है। स्थानीय लोगों का कहना है कि इस किले में जो भी रात में गया, वह कभी फिर वापस नहीं आया। भानगढ़ को अकबर के सेनापति मान सिंह के छोटे भाई माधो सिंह के बेटे भगवंत सिंह ने बसाया था। इस महल के भूतिहा होने के पीछे राजकुमारी रत्नावती और तांत्रिक सिंधु सेवदा की एक तरफ़ा प्रेम कहानी है।

5 comments

  1. Kya Ye sab Ghatna Real me Sach hai Kya….?????

  2. Ye Sab Ghatna Sach Hai Kya…????

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*