Home » Tantra Mantra » व्यापार बढाने के लिए | Vyapaar badane ke liye
dharmik
dharmik

व्यापार बढाने के लिए | Vyapaar badane ke liye




व्यापार बढाने के लिए  |  Vyapaar badane ke liye – Growth in business

व्यापार में मंदी

अगर आपके व्यापार (business) में मंदी आ गयी है या नौकरी (job) में मंदी आ गयी है तो यह करें। किसी साफ़ शीशी में सरसों का तेल भरकर उस शीशी को किसी तालाब या बहती नदी के जल (water of sea or pond) में डाल दें। शीघ्र ही मंदी का असर जाता रहेगा और आपके व्यापार में जान आ जाएगी।

व्यापार बढाने के लिए :

शुक्ल पक्ष में किसी भी दिन अपनी फैक्ट्री या दुकान के दरवाजे (on the door of factory or shop) के दोनों तरफ बाहर की ओर थोडा सा गेहूं का आटा रख दें ! ध्यान रहे ऐसा करते हुए आपको कोई देखे नही !

पूजा घर में अभिमंत्रित श्र्री यंत्र रखें !

शुक्र्वार की रात (friday night) को सवा किलो काले चने भिगो दें ! दूसरे दिन शनिवार को उन्हें सरसों के तेल में बना लें ! उसके तीन हिस्से कर लें ! उसमें से एक हिस्सा घोडे (horse) या भैंसे (cow) को खिला दें ! दूसरा हिस्सा कुष्ठ रोगी (patient) को दे दें और तीसरा हिस्सा अपने सिर से घडी की सूई से उल्टे तरफ तीन बार वार कर किसी चौराहे पर रख दें ! यह प्रयोग 40 दिन तक करें ! कारोबार में लाभ होगा !

कारोबार में नुकसान हो रहा हो या कार्यक्षेत्र में झगडा हो रहा हो तो :
यदि उपरोक्त स्थिति का सामना हो तो आप अपने वज़न के बराबर (equal to your weight) कच्चा कोयला लेकर जल प्रवाह कर दें ! अवश्य लाभ होगा !

अगर बढ़ाना हो व्यापार-व्यवसाय

अगर आपका व्यापार-व्यवसाय मंदा चल रहा है। किसी भी काम के शुरू करने के बाद उसमें ऐसा लाभ नहीं मिलता जैसा सोच रहे हैं, दुकान खुब सजाधजा कर रखने पर भी उसमें ग्राहक नहीं आते तो अब चिंता (no need to tension) की बात नहीं है। हम आपको ऐसे कुछ सिद्ध टोटके बता रहे हैं जिससे थोड़े से प्रयास से आपको बेहतर परिणाम (better result) मिलेंगे। लेकिन इन प्रयोगों को करने से पहले आपको मन में कुछ बातें ठाननी पड़ेंगी। एक, हमेशा सत्य बोलेंगे, दूसरों का अहित नहीं करेंगे और तीसरा हमेशा अपना श्रेष्ठतम परिणाम (best performance) देंगे। जब आप कोई टोटका प्रयोग में ला रहे हों तो इसके बारे में किसी को बताए नहीं, इससे टोटके का प्रभाव कम हो जाता है। इन टोटकों को आजमाइए, लाभ जरूर मिलेगा।

शनिवार को पीपल के पेड़ (tree) से एक पत्ता तोड़ लाएं, उसे धूप-बत्ती दिखाकर अपनी दुकान की गादी जिस पर आप बैठते हैं, उसके नीचे रख दें। सात शनिवार तक लगातार ऐसा ही करें। जब गादी के नीचे सात पत्ते (seven leaves) इकट्ठे हो जाएं तो उन्हें एक साथ किसी तालाब या कुएं (well) में बहा दें। व्यवसाय चल निकलेगा।

किसी ऐसी दुकान जो काफी चलती हो वहां से लोहे (metal) की कोई कील या नट आदि शनिवार के दिन खरीदकर, मांगकर या उठाकर ले आएं। काली उड़द के 10-15 दानों के साथ उसे एक शीशी में रख लें। धूप-दीप से पूजाकर ग्राहकों की नजरों से बचाकर दुकान में रख लें। व्यवसाय खुब चलेगा।

शनिवार को सात हरी मिर्च और सात नींबू (lemon) की माला बनाकर दुकान में ऐसे टांगें कि उस पर ग्राहक की नजर पड़े।

व्यवसाय

व्यापार स्थल पर किसी भी प्रकार की समस्या (problem) हो, तो वहां श्वेतार्क गणपति तथा एकाक्षी श्रीफल की स्थापना करें। फिर नियमित रूप से धूप, दीप आदि से पूजा करें तथा सप्ताह में एक बार मिठाई का भोग लगाकर प्रसाद यथासंभव अधिक से अधिक लोगों को बांटें। भोग नित्य प्रति भी लगा सकते हैं।

टोटका दस-यदि आपको लगता है कि आपका कार्य किसी ने बांध दिया है और चाहकर भी उसमें बढ़ोतरी (growth) नहीं हो रही है व सब तरफ से मन्दा एवं बाधाओं का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में आपको साबुत (soap) फिटकरी दुकान में खड़े होकर 31 बार वार दें और दुकान से बाहर निकल कर किसी चौराहे पर जाकर उत्तर दिशा में फेंक कर बिना पीछे देखें वापस आ जाएं। नजर दूर हो जाएगी और व्यापार फिर से पूर्व की भांति चलने लगेगा।

व्यापार व कारोबार में वृद्धि के लिए

एक नीबू लेकर उस पर चार लौंग गाड़ दें और उसे हाथ में रखकर निम्नलिखित मंत्र का 21 बार जप करें। जप के बाद नीबू को अपनी जेब (pocket) में रख कर जिनसे कार्य होना हो, उनसे जाकर मिलें।क्क श्री हनुमते नमः

इसके अतिरिक्त शनिवार को पीपल का एक पत्ता गंगा जल से धोकर हाथ में रख लें और गायत्री मंत्र (gayatri mantra) का 21 बार जप करें। फिर उस पत्ते को धूप देकर अपने कैश बॉक्स (cash box) में रख दें। यह क्रिया प्रत्येक शनिवार को करें और पत्ता बदल कर पहले के पत्ते को पीपल की जड़ में में रख दें। यह क्रिया निष्ठापूर्वक करें, कारोबार में उन्नति होगी।

One comment

  1. वेरी गुड आर्टिकल .. परफेक्ट इंफोर्मेशन अबाउट एव्री बिज़नेस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*