Home » Gyan » शास्त्रों के अनुसार स्त्रियों को कभी नहीं करने चाहिए ये 4 काम | Shastro ke anusaar istriyo ko kabhi nahi karne chahiye yeh 4 kaam
dharmik
dharmik

शास्त्रों के अनुसार स्त्रियों को कभी नहीं करने चाहिए ये 4 काम | Shastro ke anusaar istriyo ko kabhi nahi karne chahiye yeh 4 kaam




शास्त्रों के अनुसार स्त्रियों को कभी नहीं करने चाहिए ये 4 काम | Shastro ke anusaar istriyo ko kabhi nahi karne chahiye yeh 4 kaam

घर-परिवार हो या समाज, हर जगह स्त्रियों की स्थिति सर्वाधिक महत्वपूर्ण (important) होती है। स्त्रियों को उचित मान-सम्मान मिले, इसके लिए गरुड़ पुराण (garud puran) में बताया गया है कि स्त्रियों (ladies) को किन 4 बातों का ध्यान हमेशा रखना चाहिए। यहां जानिए ये 4 बातें कौन-कौन सी हैं।

पहली बात- बहुत ज्यादा विरह से बचना चाहिए
शास्त्रों के अनुसार किसी स्त्री को अपने पति (husband) से बहुत अधिक समय तक दूर नहीं रहना चाहिए। जीवन साथी से विरह स्त्री को मानसिक (mentally) रूप से कमजोर (weak) कर सकता है। पति से दूर रहने वाली महिला को समाज में कई प्रकार की परेशानियों (problems) का सामना करना पड़ता है। घर-परिवार और समाज में उचित मान-सम्मान मिले इसके लिए स्त्री को जीवन साथी के साथ ही रहना चाहिए। पति के साथ स्त्री अधिक सशक्त और सुरक्षित (safe) रहती है।

दूसरी बात- बुरे चरित्र वाले लोगों का संग ना करें
स्त्रियों को इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि बुरे चरित्र (bad character) वाले लोगों से दूर ही रहें। गलत आचरण के लोगों की संगत से कभी भी संकट की स्थिति निर्मित हो सकती है। जिन लोगों की सोच गलत होती है, वे दूसरों को नुकसान पहुंचाने में थोड़ा सा भी विचार नहीं करते हैं। निजी स्वार्थ और इच्छाओं को पूरा करने के लिए कुछ भी कर सकते हैं। अत: किसी भी परिस्थिति में ऐसे लोगों का संग ना करें और इनसे सावधान रहना चाहिए। अन्यथा असुरक्षा, अपयश और अपमान की स्थितियां निर्मित हो सकती हैं।

तीसरी बात- अपनों की उपेक्षा न करें
इस बात ध्यान विशेष रूप से रखना चाहिए। घर-परिवार (family) के लोगों की उपेक्षा नहीं करनी चाहिए। किसी भी परिस्थिति (situation) में घर के लोगों का अपमान न करें। अन्यथा कई प्रकार की परेशानियों (problems) का सामना करना पड़ सकता है। साथ ही, इस बात का भी ध्यान रखें कि शुभचिंतकों (well wishers) की उपेक्षा करते हुए पराए लोगों के प्रति स्नेह प्रकट न करें। इस बात की वजह से बड़ी परेशानियां उत्पन्न (problems create) हो सकती हैं।

चौथी बात- पराए घर में न रहें
स्त्रियों को किसी भी परिस्थिति में पराए घर में रुकना नहीं चाहिए। इस बात की अनदेखी करने पर भयंकर परेशानियों (dangerous problems) का सामना करना पड़ सकता है। पराए घर में रहने वाली स्त्री को घर-परिवार और समाज में भी गलत नजर से देखा जाता है। स्त्री की छबि पर बुरा असर होता है। साथ ही पराए लोगों पर भरोसा करने से व्यक्तिगत हानि (personal loss) भी हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*