Home » Kahaniya/ Stories » सच्ची वीरता | Sacchi veerta
dharmik
dharmik

सच्ची वीरता | Sacchi veerta




सच्ची वीरता  |  Sacchi veerta

बहुत पुरानी बात है| किसी पहाड़ी प्रदेश (state) में एक राजा (king) राज किया करता था| एक बार उसके राज्य पर दूसरे राजा ने चढ़ाई कर दी| उसे भगाने के लिए राजा ने एक सेना (army) तैयार की| उसमें जो लोग भर्ती हुए, उन सबको उसने एक-एक तलवार (sword) दी|  फिर राजा ने आदेश दिया – “आगे बढ़ो!”

उसी समय सब लोगों ने अपनी-अपनी तलवार म्यान से निकालकर ऊपर उठाई और जोर की आवाज की|

राजा ने पूछा – “यह क्या कर रहे हैं आप लोग?”

वे बोले – “राजन! हम अपने दुश्मन (enemy) को दिखाना चाहते हैं कि हम लोग तैयार हैं| तुम वापस चले जाओ|”

राजा समझ गया कि वे लोग घबराए (fear) हुए हैं और अपनी कमजोरी (weakness) को छिपाने के लिए ऐसा कर रहे हैं| उसने कहा – “तुम लोग अपनी तलवारें यहां रख दो और लौट जाओ| तुमसे कुछ नहीं होगा|”

राजा ने यह ठीक ही किया| वह जानता था कि सच्ची वीरता में शोर मचाने (shouting) और तलवारें उछालने की जरूरत नहीं होती|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*