Home » Desi Nuskhe » हल्‍दी का दूध पीने के लिये करते हैं प्रेरित 7 कारण | Haldi ka doodh peene ke liye karte hai prerit 7 kaaran
dharmik
dharmik

हल्‍दी का दूध पीने के लिये करते हैं प्रेरित 7 कारण | Haldi ka doodh peene ke liye karte hai prerit 7 kaaran




हल्‍दी का दूध पीने के लिये करते हैं प्रेरित 7 कारण| Haldi ka doodh peene ke liye karte hai prerit 7 kaaran

हल्‍दी (turmeric) और दूध दोनों ही आपके स्‍वास्‍थ्‍य के लिए बहुत लाभकारी होते हैं। और अगर दोनों को एक साथ मिला लिया जाये तो इनके लाभ दोगुना हो जाते है।

    1    बहुत फायदेमंद हैं हल्‍दी वाला दूध

दूध जहां कैल्शियम (calcium) से भरपूर होता है वहीं दूसरी तरफ हल्‍दी में एंटीबायोटिक (antibiotic) होता है। दोनों ही आपके स्‍वास्‍थ्‍य (health) के लिए बहुत लाभकारी होते हैं। और अगर दोनों को एक साथ मिला लिया जाये तो इनके लाभ दोगुना हो जायेगें। आइए हल्‍दी वाले दूध के ऐसे फायदों को जानकर आप इसे पीने से खुद को रोक नहीं पायेगें।

    2    सांस संबंधी समस्‍याओं में लाभकारी

हल्दी में एंटी-माइक्रोबियल (anti microbial) गुण होते है, इसलिए इसे गर्म दूध के साथ लेने से दमा, ब्रोंकाइटिस, फेफड़ों में कफ और साइनस जैसी समस्याओं में आराम होता है।  यह मसाला आपके शरीर में गरमाहट लाता है और फेफड़े (lungs) तथा साइनस में जकड़न से तुरन्त राहत मिलती है। साथ ही यह बैक्टीरियल और वायरल संक्रमणों से लड़ने में मदद करता है।

  3    मोटापा कम करें

हल्दी वाले दूध को पीने से शरीर में जमी अतिरिक्त चर्बी घटती है। इसमें मौजूद कैल्शियम (calcium) और मिनिरल (mineral) और अन्‍य पोषक तत्व वजन घटाने में मदगार होते है।

    4    हडि्डयों को मजबूत बनाये

दूध में कैल्शियम और हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट की मौजूदगी के कारण हल्दी वाला दूध पीने से हडि्डयां मजबूत (stronger bones) होती है और साथ ही शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है। हल्दी वाले दूध को पीने से हड्डियों में होने वाले नुकसान और ऑस्टियोपोरेसिस की समस्‍या में कमी आती है।

   5    खून साफ करें

आयुर्वेदिक परम्‍परा (ayurvedic tradition) में हल्‍दी वाले दूध को एक बेहतरीन रक्त शुद्ध करने वाला माना जाता है। यह रक्त को पतला कर रक्त वाहिकाओं की गन्दगी को साफ करता है। और शरीर में रक्त परिसंचरण को मजबूत बनाता है।

       6    पाचन संबंधी समस्‍याओं में लाभकारी

हल्‍दी वाला दूध एक शक्तिशाली एंटी-सेप्टिक (powerful antiseptic) होता है। यह आंतों को स्‍वस्‍थ बनाने के साथ पेअ के अल्‍सर (ulcer) और कोलाइटिस के उपचार में भी मदद करता है। इसके सेवन से पाचन बेहतर होता है और अल्‍सर, डायरिया और अपच की समस्‍या नहीं होती है।

  7     दर्द कम करें

हल्दी वाले दूध के सेवन से गठिया का निदान होता हैं। साथ ही इसका रियूमेटॉइड गठिया के कारण होने वाली सूजन (swelling) के उपचार के लिये प्रयोग किया जाता है। यह जोड़ो और मांसपेशियों को लचीला बनाता है जिससे दर्द कम हो जाता है।

    8    गहरी नींद में सहायक

हल्‍दी शरीर में ट्रीप्टोफन (triptophan) नामक अमीनो अम्ल को बनाता है जो शान्तिपूर्वक और गहरी नींद में सहायक होता है। इसलिए अगर आप रात में ठीक से सो नहीं पा रहें है या आपको बैचेनी हो रही है तो सोने से आधा घंटा पहले हल्दी वाला दूध पीएं। इससे आपको गहरी नींद आएगी और नींद ना आने की समस्या दूर हो जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*