Home » Gyan » 10 ऐसी बातें जो विमान के केबिन क्रू नहीं बताते आपको | 10 aisi baatein jo vimaan ke cabin crew nahi batate aapko
10 ऐसी बातें जो विमान के केबिन क्रू नहीं बताते आपको | 10 aisi baatein jo vimaan ke cabin crew nahi batate aapko
10 ऐसी बातें जो विमान के केबिन क्रू नहीं बताते आपको | 10 aisi baatein jo vimaan ke cabin crew nahi batate aapko

10 ऐसी बातें जो विमान के केबिन क्रू नहीं बताते आपको | 10 aisi baatein jo vimaan ke cabin crew nahi batate aapko




10 ऐसी बातें जो विमान के केबिन क्रू नहीं बताते आपको | 10 aisi baatein jo vimaan ke cabin crew nahi batate aapko

शायद आपको लगता होगा कि आप हवाई यात्रा (air travel) के बारे में सबकुछ जानते हैं. लेकिन ऐसा नहीं है. ऐसी तमाम बातें हैं जो अक्सर विमान यात्रा करने वाले यात्रियों (travelers) को भी नहीं पता होतीं.

1. पायलट दूसरा खाना खाते हैं

जहां सभी यात्रियों को खाने की एक ही तरह की प्लेट (plate) लगाकर दी जाती है. वहीं, पायलट (pilot) को अलग और विशेषरूप से बनाया गया भोजन (special food) दिया जाता है. पायलटों को विशेषरूप से तैयार दिए जाने वाले भोजन की वजह इसकी अतिरिक्त स्वच्छता होती है ताकि वे बीमार (infected) न पड़ जाएं.

2. ब्लैक बॉक्स नष्ट नहीं होता

जहां फिल्मों (movies) में दिखाया जाता है कि विमान दुर्घटना (air crash) के बाद ब्लैक बॉक्स (black box) सही सलामत रहता है, हकीकत इससे उलट (opposite) है. मानव निर्मित अन्य सामानों की ही तरह विमान का ब्लैक बॉक्स अत्यधिक दबाव (more pressure) और आग में नष्ट हो जाता है.

3. हाईजैक के लिए सीक्रेट कोड होता है

अगर हाईजैक (hijack) होने के बाद विमान लैंड करता है तो पायलट विमान के विंग्स (wings) के फ्लैप (इनका इस्तेमाल लैंड करने के दौरान विमान की रफ्तार कम करने में किया जाता है) ऊपर की दिशा में छोड़ देते हैं. यह संकेत (sign) होता है कि कुछ गड़बड़ है.

4. अगर ऑक्सीजन मास्क नहीं पहना तो हो जाएगी मौत

हालांकि यह सामान्य ज्ञान की बात है. लेकिन अगर ऊंचाई पर केबिन में ऑक्सीजन खत्म हो जाए और आप ने अपना ऑक्सीजन मास्क (oxygen mask) नहीं पहना तो आप 15 से 30 सेकेंड में ही मर जाएंगे.

5. विमान में पानी मत पीएं

अगर आपको सीधे बोतल से (बोतलबंद) पानी नहीं मिलता तो अच्छा रहेगा कि आप इसे न पीएं. क्योंकि विमान के सारे पानी को अच्छी तरह से केमिकल से ट्रीट किया जाता है ताकि कोई भी जीवाणु न मौजूद रहे. कॉफी और चाय (coffee and tea) के लिए भी यही नियम लागू होता है.

6. एयर ट्रैफिक कंट्रोल डिले (देरी) जैसा कुछ नहीं होता

ज्यादातर एयरपोर्टों में औसतन प्रति मिनट एक विमान टेक ऑफ या लैंड (take off or land) कर रहा होता है. इसका मतलब कि वहां लैंड करने वाले विमानों द्वारा अंतिम रूप से कहे जाने पर अक्सर स्थान की कमी नहीं होती.

7. हवाई यात्रा के बीच में विमान संभवतः क्रैश नहीं होता

किसी भी विमान के क्रैश होने की सर्वाधिक संभावना (possibility) उसके टेक ऑफ या लैंडिंग के दौरान होती है.

8. झटकों-हलचल से नहीं डरना चाहिए

सामान्यता बादलों के बीच ऊपर उठती हवा का तेज बहाव (अपड्राफ्ट- updraft) होता है. यह कुछ इस तरह होता है मानों करीब 800 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार के दौरान स्पीड ब्रेकर आ जाएं. इस दौरान होने वाले झटकों-हलचन से डरना-घबराना (fear/afraid) नहीं चाहिए.

9. इलेक्ट्रॉनिक्स का इस्तेमाल सही होता है

अभी तक ऐसा कोई निर्णायक सबूत सामने नहीं आया है जिससे पता चले कि इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरणों का इस्तेमाल विमान (use of electronic gadgets in plane) को किसी तरह प्रभावित करता है. लेकिन हम आपको यह सलाह बिल्कुल नहीं देंगे कि आप ऐसा करें क्योंकि इससे विमान कर्मचारियों (flight workers) के साथ आपकी बेवजह तूतू-मैंमैं हो सकती है.

10. सीटबेल्ट साइन के बारे में स्टाफ भी भूल कर सकते हैं

कभी कभार बिल्कुल सही विमान यात्रा के दौरान भी पायलट सीटबेल्ट साइन (seat belt sign- संकेत) को बंद करना भूल जाते हैं. यात्रियों को लगता है कि सीटबेल्ट पहने रहो कुछ खतरा (danger) है, लेकिन सामान्यता ऐसा नहीं होता.

One comment

  1. SUPERB Post.thanks for share..more wait.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*