Home » Gyan » 2015 के लिए नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियां | 2015 ke liye Nastrademas ki bhavisyavaniya
dharmik
dharmik

2015 के लिए नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियां | 2015 ke liye Nastrademas ki bhavisyavaniya




2015 के लिए नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियां  | 2015 ke liye Nastrademas ki bhavisyavaniya

महान फ्रेंच भविष्यवक्ता नास्त्रेदमस का जन्म 14 दिसंबर 1503 को फ्रांस (france) के छोटे से गांव सेंट रेमी में हुआ था। उन्होंने अपनी मशहूर किताब ‘द प्रोफेसीज’ में 950 भविष्यवाणियों का उल्लेख किया है। उनकी अधिकतर भविष्यवाणियां उनके द्वारा लिखी कविताओं और कोड में छिपी होती थीं। उनकी लिखी कई भविष्यवाणियां बिलकुल सही साबित हुई है। हम अपने एक पिछले लेख में आप सब को नास्त्रेदमस की अब तक सच हुई बहुचर्चित 10 भविष्यवाणियां बता चुके है। आज के इस लेख में हम आपको नास्त्रेदमस की उन भविष्यवाणियों के बारे में बताएंगे जो उन्होंने 2015 के लिए की हुई है। इनमे से दो भविष्यवाणियां तो सच होती प्रतीत हो रही है बाकी के लिए हमे साल के अंत तक इंतज़ार करना पड़ेगा। आइए जानते है क्या है 2015 के लिए नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियां –

1. खतरनाक एंटीक्रिस्ट समूह का उदय
वर्ष 2015 में एंटीक्रिस्ट (anti christ) का जन्म होगा जो ईसाईयों (christians) और मानवता का घोर विरोधी होगा और पूरी दुनिया को अपने कदमों में झुकाने के लिए तत्पर होगा। एंटीक्रिस्ट जल्दी ही एक या अनेक देशों पर कब्जा कर वहां की जमीन खून से लाल कर देगा। इसकी क्रूरता हिटलर को भी पीछे छोड़ देगी। यदि नास्त्रेदमस की भविष्यवाणियों पर काम करने वाले विशेषज्ञों की राय मानी जाए तो यह यह एंटीक्रिस्ट धार्मिक कट्टरपंथ के रूप में आईएसआईएस के रूप में जन्म ले चुका है। यह आतंकी संगठन (terrorist group) किसी धर्म को नहीं मानता वरन स्वयं के खलीफा होने का दावा करता है। धर्म के नाम पर आईएस के सदस्यों ने अरब जगत में तबाही मचा दी है।

2. वैज्ञानिक ढूंढ लेंगे बड़ी बीमारियों का इलाज
नास्त्रेदमस के अनुसार वर्ष 2015 वैज्ञानिकों को बड़ी बीमारियों (diseases) के इलाज में सफलता मिलेगी। उल्लेखनीय है कि इस वर्ष वैज्ञानिकों ने एक नया शक्तिशाली एंटीबॉयोटिक (anti biotic) टिक्सोबेक्टिन ढूंढा है। इससे पहले आखिरी एंटीबॉयोटिक आज से 25 वर्ष पहले बनाया गया था।

3. तीसरे विश्वयुद्ध की तैयारियां होंगी शुरू
इस वर्ष तीसरे विश्वयुद्ध की भूमिका बननी शुरू हो जाएगी। मिडिल ईस्ट (middle east) दुनिया की जंग का मैदान बन जाएगा जहां दुनिया भर की ताकतें अपनी शक्ति का प्रदर्शन करेंगी। यहां विश्व की कट्टर विरोधी ताकतें यथा अमरीका (america) और रूस (russia) भी मिलकर एक हो जाएंगे और दुनिया में शांति लाने के लिए आतंकवाद के खिलाफ खड़े हो जाएंगे।

4. ज्वालामुखी फटने से मचेगी तबाही

माउंट विसुवियस (mount Vesuvius) पर स्थित ज्वालामुखी (volcano) फटेगा और अपने आस-पास की सभी जगह को बरबाद कर देगा। यह घटना वर्ष 2015 के अंत में तथा वर्ष 2016 के शुरू में होने की संभावना है। माउंट विसुवियस एक बहुत ही खतरनाक ज्वालामुखी है। 79 ईस्वी में हुए एक भयानक विस्फोट में 16000 लोग मारे गए थे। यदि आज उतनी तीव्रता का इसमें विस्फोट हो तो मरने वालो की संख्या कई लाखों में होगी।

5. यूरोप पर मंडराएगा संकट
यूरोप आर्थिक संकट (europe financial problem) में घिर जाएगा। फ्रांस, जर्मनी सहित कई बड़े यूरोपियन राष्ट्रों की अर्थव्यवस्था मंदी की चपेट में आ जाएगी। हालांकि आम जनता की समृदि्ध बढ़ेगी परन्तु बड़े राष्ट्रों की समस्याएं भी उसी अनुपात में बढ़ जाएंगी। बेरोजगारी, मुद्रास्फीति और आर्थिक मंदी का भयावह दौर शुरू होगा।

6. अमरीका में मचेगी तबाही
वर्ष 2015 अमरीका के लिए अति महत्वपूर्ण होगा। इस वर्ष अमरीका को न केवल विश्व की उभरती शक्तियों यथा चीन, रूस और ईरान (iran) से चुनौती मिलेगी वरन प्राकृतिक संकटों (natural problems) से भी जूझना पड़ेगा। नास्त्रेदमस के अनुसार अमरीका को इस वर्ष भयावह भूकंप का सामना करना पड़ेगा। इस भूकंप के फलस्वरूप अमरीका का एक हिस्सा पूरी तरह तबाह हो जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*