Home » Akbar Birbal » अकबर बीरबल की कहानियाँ – एक कठिन प्रशन – Akbar Birbal ki kahaniya – Ek Kathin Prashan
अकबर बीरबल की कहानियाँ - एक कठिन प्रशन - Akbar Birbal ki kahaniya - Ek Kathin Prashan
अकबर बीरबल की कहानियाँ - एक कठिन प्रशन - Akbar Birbal ki kahaniya - Ek Kathin Prashan

अकबर बीरबल की कहानियाँ – एक कठिन प्रशन – Akbar Birbal ki kahaniya – Ek Kathin Prashan




अकबर बीरबल की कहानियाँ – एक कठिन प्रशन – Akbar Birbal ki kahaniya – Ek Kathin Prashan

बादशाह अकबर के शाही दरबार की कार्यवाही स्थगित हो गई थी। सभी दरबारी और महाराज जाने ही वाले थे की तभी एक सुरक्षाकर्मी भागता हुआ आया और बोला, “महाराज, दक्षिण भारत से एक विद्वान पंडित अभी अभी पधारे है वह आपसे ओर बीरबल से तुरंत मिलने के उत्सुक है। वह इसी उदेश्य से आगरा आये है।
“इस प्रकार उन्हें प्रतीक्षा कराना उचित नहीं है, उन्हें तुरंत शाही दरबार में लाया जाये।” बादशाह ने आदेश दिया।

जैसा ही सुरक्षाकर्मी पंडित को लेने के लिए चला गया तो बादशाह बोले, “बीरबल, अब बहुत देर हो चुकी है और में बहुत थक गया हु। तुम ही विद्वान पंडित से मिल लो और पता करो की वह कहना क्या चाहते है ?” बीरबल ने सर हिलाकर हामी भर दी।

पंडित के आने पर दोनों ने एक दुसरे को अभिवादन किया। उन्होंने बीरबल से कहा, “बीरबल मैंने तुम्हारी बुदिमता के विषय में बहुत कुछ सुना है। मैं तुम्हारी परीक्षा लेना
चाहता हु।” मुझे बताओ , क्या मैं तुमसे सौ सरल प्रशन पूछु या फिर एक कठिन प्रशन?”

बीरबल ने सोचा, “महाराज थक चुके है और विश्राम के लिए जा चुके है। सौ प्रशनो का जवाब देने का समय नही है।” इसलिए बीरबल ने कहा, “पंडित जी, आप सिर्फ एक कठिन प्रशन पूछिए।”

पंडित ने कहा, “बीरबल, बताओ पहले क्या आया है, मुर्गी या अंडा?”
बीरबल ने तुरंत जवाब दिया, “मुर्गी पंडित जी“
“तुम कैसे कह सकते हो बीरबल?”

“ओह, और प्रशन नहीं पंडित जी, आपने वादा किया था की केवल एक प्रशन पूछेगे जो पूछा जा चूका है।” बीरबल ने कहा।

पंडित जी बीरबल की चालाकी समझ चुके थे। उन्होंने बीरबल की तारीफ की। तभी बादशाह अकबर और एनी दरबारी भी वहा आ गए।

Major Beliefs of Hinduism

Hinduism Main Beliefs

What Kind of Religion is Hinduism

What did Hinduism Believe in

Where does Hnduism Come From
all about Hindus

2 comments

  1. I really like whawt you guys are usually up too. Such clever work and
    coverage!Keep up the amazing works guys I’ve added you guys
    tto our blogroll.

  2. Hello , I do consider this is a great blog. I stumbled upon it on Yahoo , I ‘ll come
    back once again.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*