Home » Aarti

Aarti

महाशिवरात्रि :असंभव काम भी संभव हो जाता है इस शिव स्तोत्र से | Mahashivratri: Asambhav kaam bhi sambhav ho jata Shri Shivji ke is stotra se

shiva and parvati

महाशिवरात्रि :असंभव काम भी संभव हो जाता है इस शिव स्तोत्र से | Mahashivratri: Asambhav kaam bhi sambhav ho jata Shri Shivji ke is stotra se भगवान शंकर (Bhagwan Shri Shankar Ji) की महिमा का वर्णन अनेक धर्म ग्रंथों (Dharam Granth – Religious Books) में किया गया है। सभी में एक ही बात कही गई है कि भगवान शिव अपने ...

Read More »

आरती विष्णु जी की | Aarti Bhagwan Shri Vishnu ji ki

dharmik

आरती विष्णु जी की  |  Aarti Bhagwan Shri Vishnu ji ki जय विष्णु देवा, स्वामी जय लक्ष्मी रमणा। भक्तन के प्रतिपालक, दीनन दुख हरणा।। जय… चार वेद गुण गावत, ध्‍यान पुराण धरें। ब्रह्मादिक शिव शारद, स्तुति नित्य करें।। जय… लक्ष्मीपति, कमलापति, गरूड़ासन स्वामी। शेष शयन तुम करते, प्रभु अन्तरयामी।। जय… माता-पिता तुम जग के, सुर मुनि करें सेवा। धूप, दीप, ...

Read More »

शिवजी की आरती : ॐ जय गंगाधर | Bhagwan Shri Shivji ki Aarti Om Jai Gangadhar

dharmik

शिवजी की आरती : ॐ जय गंगाधर  |  Bhagwan Shri Shivji ki Aarti Om Jai Gangadhar ॐ जय गंगाधर जय हर जय गिरिजाधीशा। त्वं मां पालय नित्यं कृपया जगदीशा॥ हर…॥ कैलासे गिरिशिखरे कल्पद्रमविपिने। गुंजति मधुकरपुंजे कुंजवने गहने॥ कोकिलकूजित खेलत हंसावन ललिता। रचयति कलाकलापं नृत्यति मुदसहिता ॥ हर…॥ तस्मिंल्ललितसुदेशे शाला मणिरचिता। तन्मध्ये हरनिकटे गौरी मुदसहिता॥ क्रीडा रचयति भूषारंचित निजमीशम्‌। इंद्रादिक सुर ...

Read More »

आरती श्री गणेश जी की- Aarti Shree Ganesh ji ki

dharmik

 आरती श्री गणेश जी की- Ganesh ji ki Aarti देवों में सर्वप्रथम पूजने का विधान देवों के देव महादेव शिव (Mahadev Shiv Ji) के पुत्र गणेश जी (Lord Ganesh Ji) का है. गणेश जी को विघ्न विनाशक और बुद्धिदाता कहा जाता है. हिन्दू धर्म (Hindu Dharam) में किसी भी शुभ कार्य को आरंभ करने से पहले भगवान श्री गणेश की ...

Read More »