Home » Aatma/ bhoot Pret

Aatma/ bhoot Pret

कहानी – भूत-प्रेत, आत्मा – दिव्य आत्मा | Kahaani -Bhoot-Pret, Aatma – DIVYA AATMA

कहानी - भूत-प्रेत, आत्मा - दिव्य आत्मा , Kahaani -Bhoot-Pret, Aatma - DIVYA AATMA

कहानी – भूत-प्रेत, आत्मा – दिव्य आत्मा | Kahaani -Bhoot-Pret, Aatma – DIVYA AATMA भारत (india) ही नहीं अगर विश्व (world) की बात करें तो बहुत सारे ऐसे पढ़े-लिखे लोग मिल जाएंगे जो भूत-प्रेत, आत्मा में विश्वास (believe) करते हैं। आए दिन भूत की खबरें (news) पढ़ने को या देखने को मिलती हैं। कभी-कभी कुछ लोगों के कैमरे में भी ...

Read More »

क्या और कैसे होते हैं भूत-प्रेत? जानिये कुछ अजूबा कुछ अजीब | kya aur kaise hote hai bhooth-pret? jaaniye kuch ajooba kuch ajeeb

dharmik

क्या और कैसे होते हैं भूत-प्रेत? जानिये कुछ अजूबा कुछ अजीब | kya aur kaise hote hai bhooth-pret? jaaniye kuch ajooba kuch ajeeb भूत-प्रेत के नाम से एक अनजाना भय (unknown fear) लोगो की मन को सताता है। इसके किस्से भी सुनने को मिल जाते है और लोग बहुत रुचि व विस्मय के साथ इन्हें सुनते है और इन पर ...

Read More »

इन संकेतों से जाने की आपके घर में भूत है के नहीं| In sanketo se jaane ke aapke gharmein bhoot hai ke nahi

dharmik

इन संकेतों से जाने की आपके घर में भूत है के नहीं| In sanketo se jaane ke aapke gharmein bhoot hai ke nahi जिस तरह भिन्न-भिन्न चीजों के अलग-अलग संकेत (signal) होते है, ठीक उसी तरह प्रेत आत्माओं के मौजूद होने के भी कई संकेत होते है। विशेषज्ञों के अनुसार अगर इन संकेतों में से अगर आपको कोई भी संकेत ...

Read More »

अगर आपको ऐसा लगे तो यह जान ले के यह भूत-प्रेत बाधा नहीं है सिर्फ़ एक बीमारी है और इसका उपचार भी संभव है | agar aapko aisa lage to yeh jaan le ke yeh bhoot pret badha nahi hai sirf ek bimari hai aur iska upchaar sambhav hai

dharmik

अगर आपको ऐसा लगे तो यह जान ले के यह भूत-प्रेत बाधा नहीं है सिर्फ़ एक बीमारी है और इसका  उपचार भी संभव है | agar aapko aisa lage to yeh jaan le ke yeh bhoot pret badha nahi hai sirf ek bimari hai aur iska upchaar sambhav hai अक्सर सुनने में आता है कि अमुक पर भूतों का साया ...

Read More »

5 श्रापित खजाने : जो भी ख़जाना ढूंढने गया उसकी हो गई मौत | 5 shaapit khajane: jo bhi khajana dhoondhane gaya uski ho gayi maut

dharmik

5 श्रापित खजाने : जो भी ख़जाना ढूंढने गया उसकी हो गई मौत | 5 shaapit khajane: jo bhi khajana dhoondhane gaya uski ho gayi maut छुपे हुए खजानो की खोज प्राचीन काल से ही लोगो को अपनी और आकर्षित (attract) करती आई है क्योंकि इसमें रहस्य-रोमांच के साथ साथ एकाएक अमीर (rich) बनने के भी चांस होते है।  अब ...

Read More »

विशव की 10 सबसे डरावनी जगह | Vishav ki 10 sabse daravni jagah

dharmik

विशव की 10 सबसे डरावनी जगह | Vishav ki 10 sabse daravni jagah भूत, प्रेत, आत्माओं का अस्तित्व हर युग, हर सभ्यता और हर देश में रहा है। इसलिए इस संसार के प्रत्येक हिस्से में कुछ भूतिहा जगह पाई जाती है। आज हम आपको संसार की 10 डरावनी जगहों के बारे में बता रहे है। 1. बीचवर्थ का पागलखाना, ऑस्ट्रेलिया ...

Read More »

दिल्ली की 10 डरावनी जगह | 10 Haunted Places in Delhi to see

dharmik

दिल्ली की 10 डरावनी जगह | 10 Haunted Places in Delhi to see आइए जानते है दिल्ली की उन 10 जगहों के बारे में जिनके बारे में माना जाता है की यहाँ पर आज भी भूतों, आत्माओं (Spirits) या कोई अदृश्य शक्तियो (Invisible Powers) का निवास है। इन जगहों पर रात में जाने की हिम्मत बहुत कम लोग ही जुटा ...

Read More »

जब भूत प्रेत या नकारात्मक शक्ति सताने लगे | Jab bhoot pret ya nakaratmak shakti satane lage to

dharmik

जब भूत प्रेत या नकारात्मक शक्ति सताने लगे| Jab bhoot pret ya nakaratmak shakti satane lage to कहते हैं कि इस दुनिया (world) से अलग एक दूसरी दुनिया है जो लोक और परलोक के बीच में है। यह दुनिया है आत्माओं (souls) की दुनिया। कुछ लोग इस दुनिया में रहने वालों को भूत प्रेत (ghost) कहते हैं। कुछ लोग इन्हें ...

Read More »

ऊपरी हवा पहचान और निदान | Upari hawa, pehchaan aur nidaan

dharmik

ऊपरी हवा पहचान और निदान | Upari hawa, pehchaan aur nidaan प्रायः सभी धर्मग्रंथों में ऊपरी हवाओं, नजर दोषों आदि का उल्लेख है। कुछ ग्रंथों (books) में इन्हें बुरी आत्मा (bad souls) कहा गया है तो कुछ अन्य में भूत-प्रेत (ghost) और जिन्न। यहां ज्योतिष (Astrology) के आधार पर नजर दोष का विश्लेषण प्रस्तुत है। ज्योतिष सिद्धांत के अनुसार गुरु ...

Read More »

अपशकुन क्या है? | Apshakun kya hai ?

dharmik

अपशकुन क्या है?| Apshakun kya hai ? कुछ लक्षणों को देखते ही व्यक्ति के मन में आषंका उत्पन्न हो जाती है कि उसका कार्य पूर्ण (work complete) नहींहोगा। कार्य की अपूर्णता को दर्षाने वाले ऐसे ही कुछ लक्षणों को हम अपषकुन मान लेते हैं। अपशकुनों के बारे में हमारे यहां काफी कुछ लिखा (written) गया है, और उधर पष्चिम में ...

Read More »