Home » Hinduism (page 12)

Hinduism

श्रीकृष्ण से सीखें सफलता के 5 मं‍त्र | Bhagwan Shri Krishan ji se seekhein safalta ke 5 mantra

dharmik

श्रीकृष्ण से सीखें सफलता के 5 मं‍त्र | Bhagwan Shri Krishan ji se seekhein safalta ke 5 mantra युवाओं के लिए मार्गदर्शक के तौर पर भगवान एवं सखा श्रीकृष्ण ( Bhagwan Shri Krishan) से बढ़कर दूसरा कोई नहीं है। युवाओं के सबसे करीबी माने जाने वाले श्रीकृष्ण उनके लिए मित्रवत होने के साथ ही अहम गुरू भी हैं,जो उन्हें विपत्ति ...

Read More »

जीवन में श्रीकृष्ण का गुणगान जरूरी | Jeevan mein Bhagwan Shri Krishan ji ka gungaan zaroori hai

dharmik

जीवन में श्रीकृष्ण का गुणगान जरूरी | Jeevan mein Bhagwan Shri Krishan ji ka gungaan zaroori hai जन्म-जन्मांतरों का सुकृत पुण्य जब उदय होता है, तभी हमारे जीवन में भगवान के मंगलमय लीला चरित्र के गुणगान का सौभाग्य मिलता है। हमारे जीवन का वही क्षण कृतार्थ है, जिसमें उत्तम श्लोक भगवान श्री राधा-कृष्ण ( Radha Krishan) के गुणों का गान ...

Read More »

मंदिर में जाने से पहले आखिर क्यों बजाते हैं घंटी? | Mandir mein jaane se pehle aakhir ghanti kyon bajate hai ?

dharmik

हिंदू धर्म (Hindu Dharma) में देवालयों व मंदिरों के बाहर घंटियां या घडिय़ाल पुरातन काल से लगाए जाते हैं। जैन और हिन्दू मंदिर में घंटी लगाने की परंपरा की शुरुआत प्राचीन ऋषियों-मुनियों ने शुरू की थी। इस परंपरा को ही बाद में बौद्ध धर्म और फिर ईसाई धर्म ने अपनाया। बौद्ध जहां स्तूपों में घंटी, घंटा, समयचक्र आदि लगाते हैं ...

Read More »

सिर पर चोटी क्यों रखी जाती है? | Sir par choti kyon rakhi jaati hai

dharmik

सिर पर चोटी क्यों रखी जाती है? | Sir par choti kyon rakhi jaati hai वैदिक संस्कृति ( Vedic Sanskriti) में चोटी को ‘शिखा’ कहते हैं। स्त्रियां भी चोटी रखती हैं। उसका भी कारण है। मुंडन और उपनयन संस्कार के समय यह किया जाता है। प्रत्येक हिन्दू को यह करना होता है। इस संस्कार के बाद ही बच्चा द्विज कहलाता ...

Read More »

भारत के 10 अनसुलझे रहस्य जानिए | Bharat desh ke 10 ansuljhe rahasya jaaniye

aaa

 भारत के 10 अनसुलझे रहस्य जानिए | Bharat desh ke 10 ansuljhe rahasya jaaniye ऋषि-मुनियों ( Rishi Muni) और अवतारों की भूमि ‘भारत’ एक रहस्यमय देश है। यदि धर्म कहीं है तो सिर्फ यहीं है। यदि संत कहीं हैं तो सिर्फ यहीं हैं। माना कि आजकल धर्म, अधर्म की राह पर चल पड़ा है। माना कि अब नकली संतों की ...

Read More »

राहुकाल, 30 मुहूर्त से लेकर कल्पादि तक के नाम, जानिए | Rahukaal 30 muhurat se lekar kalpaadi tak ke naam jaaniye

dharmik

राहुकाल, 30 मुहूर्त से लेकर कल्पादि तक के नाम, जानिए | Rahukaal 30 muhurat se lekar kalpaadi tak ke naam jaaniye राहुकाल : राहुकाल स्थान (Place) और तिथि (Date) के अनुसार अलग-अलग होता है अर्थात प्रत्येक वार को अलग समय में शुरू होता है। यह काल कभी सुबह, कभी दोपहर तो कभी शाम के समय आता है, लेकिन सूर्यास्त से ...

Read More »

जगन्नाथ पुरी मंदिर के आश्चर्यजनक तथ्य | Bhagwan Shri Jagannath Puri Mandir ke Ascharyajanak Tathya

dharmik

जगन्नाथ पुरी मंदिर के आश्चर्यजनक तथ्य  |  Bhagwan Shri Jagannath Puri Mandir ke Ascharyajanak Tathya पुरी का जगन्नाथ मंदिर विश्व भर में प्रसिद्ध है। मं‍दिर का आर्किटेक्ट इतना भव्य है कि दूर-दूर के वास्तु विशेषज्ञ इस पर रिसर्च करने आते हैं। कुछ आश्चर्यजनक तथ्य इन दिनों फेसबुक पर खासे चर्चित हैं। प्रस्तुत है आपके लिए संपादित अंश- 1. मंदिर (Mandir) ...

Read More »

किस शिवलिंग के पूजन से मिलता है क्या फल, जानिए | Kis Shivling ke Poojan se milta hai kya Phal Jaaniye

dharmik

किस शिवलिंग के पूजन से मिलता है क्या फल, जानिए | Kis Shivling ke Poojan se milta hai kya Phal Jaaniye सावन विशेष : खास प्रयोजन के लिए पूजें खास शिवलिंग को * मनचाहे वरदान के लिए श्रावण में करें विशेष शिवलिंग की पूजन श्रावण में विभिन्न प्रकार के शिवलिंगों के पूजन का विशेष महत्व बताया गया है। माना जाता ...

Read More »

हिन्दुओं की समय निर्धारण पद्धति, महत्वपूर्ण जानकारी | Hinduo ko samay nirdharan paddati, mahatvpuran jaankari

dharmik

हिन्दुओं की समय निर्धारण पद्धति, महत्वपूर्ण जानकारी  |  Hinduo ko samay nirdharan paddati, mahatvpuran jaankari कलयति सर्वाणि भूतानि : अर्थात काल संपूर्ण ब्रह्मांड को, सृष्टि को खा जाता है। इस काल का सूक्ष्मतम अंश परमाणु है और महानतम अंश ब्रह्मा। जैसे आधुनिक काल के अनुसार सूक्ष्मतम अंश सेकंड है और महानतम अंश शताब्दी। ज्योतिर्विदाभरण में अनुसार कलियुग (Kaliyug) में 6 ...

Read More »