Home » Kahaniya/ Stories (page 3)

Kahaniya/ Stories

महारानी का हार | Maharaani ka haar

dharmik

महारानी का हार | Maharaani ka haar हस्तिनापुर की रानी (Queen of Hastinapur) व उसकी सखियाँ तालाब में नित्य स्नान किया करती थी| एक दासी जो प्रतिदिन उनके कपड़ों और आभूषणों की निगरानी करती थी, इस उबाऊ काम से काफ़ी परेशान हो गयी थी| एक दिन तालाब (Pond) के किनारे एक पेड़ पर एक बंदरिया आ बैठी| वह सोच रही ...

Read More »

रावण के पूर्वजन्मों की कहानी | Raavan ke purvajanamo ki kahani

dharmik

रावण के पूर्वजन्मों की कहानी | Raavan ke purvajanamo ki kahani रावण अपने पूर्वजन्म में भगवान विष्णु (Bhagwan Vihsnu Ji) के द्वारपाल (Gate Keeper) हुआ करते थे पर एक श्राप के चलते उन्हें तीन जन्मो तक राक्षस कुल में जन्म लेना पड़ा था।  आज इस लेख में हम आपको रावण के दो पूर्वजन्मों और एक बाद के जन्म के बारे ...

Read More »

ईश्वर का न्याय | ishwar ka nyaaye

dharmik

ईश्वर का न्याय | ishwar ka nyaaye ईश्वर का न्याय एक रोज रास्ते में एक महात्मा अपने शिष्य (Mahatma with student) के साथ भ्रमण पर निकले. गुरुजी को ज्यादा इधर-उधर की बातें करना पसंद नहीं था, कम बोलना और शांतिपूर्वक अपना कर्म करना ही गुरू को प्रिय था. परन्तु शिष्य बहुत चपल था, उसे हमेशा इधर-उधर की बातें ही सूझती, ...

Read More »

सवेरे जल्दी उठने के दस फायदे और तरीके | Savere jaldi uthne ke dus faayde aur tarike

dharmik

पहले मैं आपको यह बता दूँ की यदि आप रात्रिजीवी है और इसी में खुश हैं तो आपको अपनी आदत बदलने की कोई ज़रूरत नहीं है। मेरे लिए रात का उल्लू (OWL) होने के बाद जल्द उठने वाला जीव बनना बहुत बड़ा परिवर्तन था। इससे मुझे इतने सारे लाभ हुए कि अब मुझसे सवेरे देर से उठा न जाएगा। लाभ ...

Read More »

Heaven | स्वर्ग

dharmik

Heaven – स्वर्ग एक यात्री अपने घोड़े (horse) और कुत्ते (dog) के साथ सड़क पर चल रहा था. जब वे एक विशालकाय पेड़ (huge tree) के पास से गुज़र रहे थे तब उनपर आसमान से बिजली गिरी और वे तीनों तत्क्षण मर गए. लेकिन उन तीनों को यह प्रतीत नहीं हुआ कि वे अब जीवित नहीं है और वे चलते ...

Read More »

सोच का फ़र्क | Soch ka fark

dharmik

सोच का फ़र्क| Soch ka fark एक शहर में एक धनी व्यक्ति रहता था, उसके पास बहुत पैसा था और उसे इस बात पर बहुत घमंड भी था| एक बार किसी कारण से उसकी आँखों में इंफेक्शन (infection) हो गया| आँखों में बुरी तरह जलन होती थी, वह डॉक्टर (doctor) के पास गया लेकिन डॉक्टर उसकी इस बीमारी (infection) का ...

Read More »

कैसे रहें खुश, How to Be Happy | Kaise khush rahe

dharmik

कैसे रहें खुश, How to Be Happy| Kaise khush rahe एक बार एक अध्यापक (teacher) कक्षा में पढ़ा रहे थे अचानक ही उन्होंने बच्चों की एक छोटी सी परीक्षा (test) लेने की सोची । अध्यापक ने सब बच्चों से कहा कि सब लोग अपने अपने नाम की एक पर्ची बनायें । सभी बच्चों ने तेजी से अपने अपने नाम की ...

Read More »

हमारे माता पिता | our mother father | our parents

dharmik

हमारे माता पिता | our mother father | our parents एक बार की बात है एक जंगल (jungle) में सेब का एक बड़ा पेड़ था| एक बच्चा रोज उस पेड़ पर खेलने आया करता था| वह कभी पेड़ (tree) की डाली से लटकता कभी फल तोड़ता कभी उछल कूद करता था, सेब का पेड़ भी उस बच्चे से काफ़ी खुश ...

Read More »

धोखेबाज का अन्त | Dhokebaaj ka ant

dharmik

धोखेबाज का अन्त एक नगर में एक पंडित रहता था| उसे अपनी पत्नी से बहुत प्यार हो गया था| एक बार इन दोनों पति-पत्नी के परिवार वालों के साथ लड़ाई हो गई| जिसके कारण इन्हें अपना घर छोड़कर दूसरे शहर में जाना पड़ा| रास्ते में जाते-जाते उसकी पत्नी ने कहा-पतिदेव, मुझे पानी की प्यास सता रही है कहीं से पानी ...

Read More »

पागल नौकर | Pagal Naukar

dharmik

पागल नौकर | Pagal Naukar किसी शहर (city) में एक सेठ रहता था| किसी कारणवश उस बेचारे को अपने कारोबार (business) में घाटा (loss) पड़ गया| गरीब (poor) होने के कारण उसे बहुत दुःख (sad) था| इस दुःख से तंग आकर उसने सोचा कि इस जीवन (life) का उसे क्या लाभ? इससे तो मर जाना अच्छा है| यह सोचकर एक ...

Read More »