Home » Mahabharat ki Kahaniya

Mahabharat ki Kahaniya

What did Bhishma tell Yudhisthira before his death?

What did Bhishma tell Yudhisthira before his death? Women in Hinduism are seen in terms of respect and high esteem. The ancient sacred texts shed much light about women. In many great Hindu scriptures, the women speak of fidelity to their husband and their strong will power. Some texts have described the duties of women and how they should behave. ...

Read More »

जानिये मृत्यु से ठीक पहले भीष्म जी ने युधिष्ठिर को बताई थीं स्त्रियों के बारे में क्या क्या बातें| Jaaniye death se theek pehle bhishm ji ke Yudhishthir ko batai thi womens ke bare mein kya kya baatein

Jaaniye death se theek pehle bhishm ji ke Yudhishthir ko batai thi womens ke bare mein kya kya baatein

जानिये मृत्यु से ठीक पहले भीष्म जी ने युधिष्ठिर को बताई थीं स्त्रियों के बारे में क्या क्या बातें| Jaaniye death se theek pehle bhishm ji ke Yudhishthir ko batai thi womens ke bare mein kya kya baatein हिंदू धर्म में महिलाओं को बहुत ही आदर व सम्मान की दृष्टि से देखा जाता है। (respect for womens in hindu religion) ...

Read More »

महाभारत की एक अनसुनी और अनोखी कथा – जब कुरुक्षेत्र मैदान में दिया था महायोद्धा कर्ण ने गुप्त रूप से धनुर्धारि अर्जुन को जीवनदान | mahabharat ki ek ansuni aur anokhi katha- Jab kurukshetra mein diya tha mahayodha karam ne gupt roop se dhanurdhari arjun ko jeevandaan

महाभारत की एक अनसुनी और अनोखी कथा - जब कुरुक्षेत्र मैदान में दिया था महायोद्धा कर्ण ने गुप्त रूप से धनुर्धारि अर्जुन को जीवनदान | mahabharat ki ek ansuni aur anokhi katha- Jab kurukshetra mein diya tha mahayodha karam ne gupt roop se dhanurdhari arjun ko jeevandaan

महाभारत की एक अनसुनी और अनोखी कथा – जब कुरुक्षेत्र मैदान में दिया था महायोद्धा कर्ण ने गुप्त रूप से धनुर्धारि अर्जुन को जीवनदान | mahabharat ki ek ansuni aur anokhi katha- Jab kurukshetra mein diya tha mahayodha karam ne gupt roop se dhanurdhari arjun ko jeevandaan महाभारत के युद्ध (mahabharat war) में कर्ण भले ही अधर्म के पक्ष में ...

Read More »

पांच पांडवों से भी ज्‍यादा बलवान और बुद्धिमान अंगराज कर्ण से सीखें कुछ बातें | Paanch pandavo se bhi jyada balwan aur buddhiman angraj karan se seekhein kuch baatein

पांच पांडवों से भी ज्‍यादा बलवान और बुद्धिमान अंगराज कर्ण से सीखें कुछ बातें | Paanch pandavo se bhi jyada balwan aur buddhiman angraj karan se seekhein kuch baatein

पांच पांडवों से भी ज्‍यादा बलवान और बुद्धिमान अंगराज कर्ण से सीखें कुछ बातें | Paanch pandavo se bhi jyada balwan aur buddhiman angraj karan se seekhein kuch baatein सूर्यपुत्र कर्ण, महारथी कर्ण, दानवीर कर्ण, सर्वश्रेष्ठ धनुर्धर कर्ण ऐसे कितने ही नामों से पुकारे जाने वाले महाभारत (mahabharat) के इस महान यौद्धा का दुर्भाग्य (bad luck) ने अन्त तक साथ नहीं छोड़ा। ...

Read More »

जानिए किसने किसको और क्यों दिया ऐसा श्राप | Jaaniye kisne kisko aur kyon kyon diya aisa shraap

जानिए किसने किसको और क्यों दिया ऐसा श्राप | Jaaniye kisne kisko aur kyon kyon diya aisa shraap

जानिए किसने किसको और क्यों दिया ऐसा श्राप | Jaaniye kisne kisko aur kyon kyon diya aisa shraap हिंदू धर्म ग्रंथों (hindu spiritual books) में ऋषियों द्वारा श्राप (curse) देने के अनेक प्रसंग मिलते हैं। ऋषियों के श्राप से तो पराक्रमी राजा भी घबराते थे। श्राप के कारण भगवान को भी दु:ख भोगने पड़े और मनुष्य रूप में जन्म (birth) लेना ...

Read More »

पढ़ें महाभारत की अद्भुत कथा – ब्राह्मण और दो मुद्राओं का कमाल !! Padhe mahabharat ki adbhut katha -brahman aur do mudrao ka kamaal

dharmik

पढ़ें महाभारत की अद्भुत कथा – ब्राह्मण और दो मुद्राओं का कमाल !! Padhe mahabharat ki adbhut katha -brahman aur do mudrao ka kamaal एक बार श्री कृष्ण (shri krishan ji) और अर्जुन (Arjun) भ्रमण पर निकले तो उन्होंने मार्ग में एक निर्धन ब्राहमण (poor brahman) को भिक्षा मागते देखा.. अर्जुन को उस पर दया आ गयी और उन्होंने उस ...

Read More »

जानिये किन -किन परिस्थितियों में व्यक्ति को नींद नहीं आती है – विदुर नीति | Jaaniye kin kin paristhityo mein vyakti ko neend nahi aati hai

dharmik

जानिये किन -किन परिस्थितियों में व्यक्ति को नींद नहीं आती है – विदुर नीति | Jaaniye kin kin paristhityo mein vyakti ko neend nahi aati hai महाभारत युद्ध (mahabharat war) शुरू होने से पहले की बात हैं, जब हस्तिनापुर के दूत संजय पांडवों का सन्देश लेकर आये थे और अगले दिन सभा में उनका सन्देश सुनाने वाले थे। उसी रात ...

Read More »

हर मनुष्य के लिए अनिवार्य है महाभारत में वर्णित धन से जुड़ी इन नीतियों को जानना | har manushya ke liye anivarya hai mahabharat mein varnit dhan se judi in nitiyo ko jaan na

dharmik

हर मनुष्य के लिए अनिवार्य है महाभारत में वर्णित धन से जुड़ी इन नीतियों को जानना | har manushya ke liye anivarya hai mahabharat mein varnit dhan se judi in nitiyo ko jaan na वर्तमान समय (in the present time) में हर व्यक्ति यही चाहता है कि उसके पास पैसा हो, हर वो सुख-सुविधा हो जिससे वो अपना जीवन आराम ...

Read More »

जानिये आखिर महाभारत का युद्ध कुरुक्षेत्र में ही क्यों लड़ा गया था| Jaaniye aakhir mahabharat ka yudh kurukshetra mein hi kyon lada gaya tha

dharmik

जानिये आखिर महाभारत का युद्ध कुरुक्षेत्र में ही क्यों लड़ा गया था| Jaaniye aakhir mahabharat ka yudh kurukshetra mein hi kyon lada gaya tha महाभारत के अनुसार, भरतवंश में राजा कुरु ने जिस भूमि को बार-बार जोता, वह स्थान कुरुक्षेत्र कहलाया। राजा कुरु को देवराज इंद्र ने वरदान दिया था कि जो भी व्यक्ति इस स्थान पर युद्ध करते हुए ...

Read More »

जानिये किस कारण से हुआ था महाभारत की द्रोपदी का जन्‍म | Jaaniye kis karan se hua tha mahabharat ki draupadi ka janam

dharmik

जानिये किस कारण से हुआ था महाभारत की द्रोपदी का जन्‍म | Jaaniye kis karan se hua tha mahabharat ki draupadi ka janam हिंदू धर्म के महाकाव्‍य महाभारत में द्रोपदी को आग से जन्‍मी पुत्री (daughter) के रूप में वर्णित किया गया था। पांचाल के राजा ध्रुपद थे; जिनके कोई संतान नहीं थी, उन्‍होने एक यज्ञ करवाया जिसमें द्रोपदी का ...

Read More »