Home » Kahaniya/ Stories » One Short Motivational Story in Hindi – बदलाव – Change
One Short Motivational Story in Hindi - बदलाव - Change
One Short Motivational Story in Hindi - बदलाव - Change

One Short Motivational Story in Hindi – बदलाव – Change




One Short Motivational Story in Hindi – बदलाव – Change

जिन्दगी (life) में बहुत सारे अवसर ऐसे आते है जब हम बुरे हालात का सामना (facing bad situations) कर रहे होते है और सोचते है कि क्या किया जा सकता है क्योंकि इतनी जल्दी तो सब कुछ बदलना संभव नहीं है और क्या पता मेरा ये छोटा सा बदलाव कुछ क्रांति लेकर आएगा या नहीं लेकिन मैं आपको बता दूँ हर चीज़ या बदलाव की शुरुआत (starting) बहुत ही basic ढंग से होती है | कई बार तो सफलता हमसे बस थोड़े ही कदम दूर होती है कि हम हार मान लेते है जबकि अपनी क्षमताओं पर भरोसा (believe) रख कर किया जाने वाला कोई भी बदलाव छोटा नहीं होता और वो हमारी जिन्दगी में एक नीव का पत्थर भी साबित हो सकता है | चलिए एक कहानी पढ़ते (read a story) है इसके द्वारा समझने में आसानी होगी कि छोटा बदलाव किस कदर महत्वपूर्ण (important) है |

एक लड़का सुबह सुबह दौड़ने (morning jogging) को जाया करता था | आते जाते वो एक बूढी महिला (old woman) को देखता था | वो बूढी महिला तालाब के किनारे छोटे छोटे कछुवों (tortoise) की पीठ को साफ़ किया करती थी | एक दिन उसने इसके पीछे का कारण जानने की सोची |

Must Read: Life mein Jab Ho Udaas To Kya Kare ( A Motivational Lesson)

वो लड़का महिला के पास गया और उनका अभिवादन (wish) कर बोला ” नमस्ते आंटी ! मैं आपको हमेशा इन कछुवों की पीठ को साफ़ करते हुए देखता हूँ आप ऐसा किस वजह से करते हो ?”  महिला ने उस मासूम से लड़के को देखा और  इस पर लड़के को जवाब (answer) दिया ” मैं हर रविवार (Sunday) यंहा आती हूँ और इन छोटे छोटे कछुवों की पीठ साफ़ करते हुए सुख शांति का अनुभव (feel) लेती हूँ |”  क्योंकि इनकी पीठ पर जो कवच होता है उस पर कचता (wastage) जमा हो जाने की वजह से इनकी गर्मी पैदा करने की क्षमता कम हो जाती है इसलिए ये कछुवे तैरने में मुश्किल (difficult to swim) का सामना करते है | कुछ समय बाद तक अगर ऐसा ही रहे तो ये कवच भी कमजोर (weak) हो जाते है इसलिए कवच को साफ़ करती हूँ |

यह सुनकर लड़का बड़ा हैरान था | उसने फिर एक जाना पहचाना सा सवाल (asked a common question) किया और बोला “बेशक आप बहुत अच्छा काम कर रहे है लेकिन फिर भी आंटी एक बात सोचिये कि इन जैसे कितने कछुवे है जो इनसे भी बुरी हालत (bad situation) में है जबकि आप सभी के लिए ये नहीं कर सकते तो उनका क्या क्योंकि आपके अकेले के बदलने से तो कोई बड़ा बदलाव नहीं आयेगा न |

महिला ने बड़ा ही संक्षिप्त लेकिन असरदार जवाब (give a solid answer) दिया कि भले ही मेरे इस कर्म से दुनिया (world) में कोई बड़ा बदलाव नहीं आयेगा लेकिन सोचो इस एक कछुवे की जिन्दगी में तो बदलाव (change in the life of this tortoise)  आयेगा ही न | तो क्यों हम छोटे बदलाव से ही शुरुआत करें |

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*