Home » Tag Archives: धर्म कर्म (page 30)

Tag Archives: धर्म कर्म

कहानी एक परिवार की | kahani ek parivar ki

dharmik

कहानी एक परिवार की | kahani ek parivar ki कहानी एक ऐसे परिवार (family)  की जिन्होने अपनी बदनामी होने से पहले ही शान से मौत को गले लगा लिया । एक गाँव मे एक खुशहाल परिवार रहता था । उस परिवार के बडे बेटे का विवाह marriage) बडी धूमधाम से किया गया । 2 वर्ष के बाद उस परिवार मेँ ...

Read More »

खूब जियो मेरे दोस्त | Khoob Jiyo mere dost

dharmik

खूब जियो मेरे दोस्त | Khoob Jiyo mere dost जब मैं छोटा था, शायद दुनिया (world) बहुत बड़ी हुआ करती थी.. मुझे याद है मेरे घर से “स्कूल” (school) तक का वो रास्ता, क्या क्या नहीं था वहां… चाट के ठेले, जलेबी की दुकान (shop), बर्फ के गोले… सब कुछ… अब वहां “मोबाइल शॉप” (mobile shop), “विडियो पार्लर” हैं, फिर ...

Read More »

वो एक माँ थी | Woh ek maa thi

dharmik

वो एक माँ थी | Woh ek maa thi आधी रात को बहुत बारिश (rain)हो रही थी। अजय और उसकी बीवी प्रिया एक मित्र की पार्टी (party) से अपनी गाडी से घर वापस लौट रहे थे.. बारिश की वजह से अजय बहुत धीमी गति से गाड़ी (vehicle) चला रहा था,तभी अचानक बिजली गिरी.. बिजली की रोशनी में अजय को गाड़ी ...

Read More »

बेटी तो भगवान की अनमोल भेंट | Beti to bhagwan ki anmol bhent

dharmik

बेटी तो भगवान की अनमोल भेंट | Beti to bhagwan ki anmol bhent एक दिन की बात है , लड़की की माँ (mother) खूब परेशान होकर अपने पति (husband) को बोली की एक तो हमारा एक समय का खाना पूरा नहीं होता और बेटी साँप (snake) की तरह बड़ी होती जा रही है . गरीबी की हालत में इसकी शादी ...

Read More »

मां | Maa | Mother

dharmik

मां | Maa | Mother एक घर मे छोटा बच्चा मेहमान (relative) बनकर आया! घर वालो ने मिलकर खूब जश्न मनाया! पांच साल का हुआ जब वो बच्चा उसको अच्छे स्कूल (school) मे डलवाया! मां बाप की मेहनत से आखिर पढ लिखकर उसने अपना नाम कमाया! खुशी-खुशी अपने प्यारे बेटे का मां-बाप ने ब्याह (marriage) रचाया! वो लड़का अपनी मरज़ी ...

Read More »

भक्त धन्ना जी (Bhagat Dhanna Ji) | Bhagat Dhanna Ji

dharmik

भक्त धन्ना जी (Bhagat Dhanna Ji) | Bhagat Dhanna Ji परिचय: भक्त धन्ना जी का जन्म श्री गुरु नानक देव जी (guru nanak dev ji) से पूर्व कोई 53 वर्ष पहले माना जाता है| आपका जन्म मुंबई (mumbai) के पास धुआन गाँव में एक जाट घराने में हुआ| आप के माता पिता कृषि और पशु पालन (farming and animal husbandry) ...

Read More »

भक्त ध्रुव जी (Bhagat Dhruv Ji)

dharmik

भक्त ध्रुव जी (Bhagat Dhruv Ji) भूमिका: जो भक्ति करता है वह उत्तम पदवी, मोक्ष तथा प्रसिद्धि प्राप्त करता है| यह सब भगवान की लीला है| सतियुग में एक ऐसे ही भक्त हुए हैं जिनका नाम ध्रुव था| परिचय: भक्त ध्रुव जी का जन्म राजा उतानपाद के महल में हुआ| राजा की दो रानियाँ थी| भक्त ध्रुव की माता (mother) ...

Read More »

महानता के गुण | Mahanta ke Gunn

dharmik

महानता के गुण| Mahanta ke Gunn अपने साधना-काल में एक दिन महावीर एक ऐसे निर्जन स्थान पर ठहरे, जहां एक यक्ष का वास था| वहां वे कोयोत्सर्ग मुद्रा में ध्यान-मग्न हो गए| रात (night) को यक्ष आया तो वह अपने स्थान पर एक अपरिचित व्यक्ति (unknown person) को देखकर आग-बबूला हो गया| वह बड़े जोर से दहाड़ा| उसकी दहाड़ से ...

Read More »

किसका अपराध सजा किसको | Kiska Apradh saja kisko

dharmik

किसका अपराध सजा किसको| Kiska Apradh saja kisko प्राचीन काल की बात है, रुरु नामक एक मुनि-पुत्र था| वह सदा घूमता रहता था| एक बार वह घूमता हुआ स्थूलकेशा ऋषि के आश्रम में पहुंचा| वहां एक सुंदर युवती (beautiful lady) को देख वह उस पर आसक्त हो गया| रुरु को उस अद्भुत सुंदर युवती के विषय में ज्ञात हुआ कि ...

Read More »

माँ वैष्णोदेवी | Maa Vaishno Devi

dharmik

माँ वैष्णोदेवी| Maa Vaishno Devi आपने जम्मू (jammu) की वैष्णो माता का नाम अवश्य सुना होगा। आज हम आपको इन्हीं की कहानी (story) सुना रहे हैं, जो बरसों से जम्मू-कश्मीर में सुनी व सुनाई जाती है। कटरा के करीब हन्साली ग्राम में माता के परम भक्त श्रीधर रहते थे। उनके यहाँ कोई संतान न थी। वे इस कारण बहुत दुखी ...

Read More »